पाकिस्तान में बढ़े फेसबुक के दीवाने

 शनिवार, 16 जून, 2012 को 13:12 IST तक के समाचार
फेसबुक

शोध बताते हैं कि पाकिस्तान में गूगल के बाद फेसबुक को ही सबसे ज्यादा क्लिक मिलते हैं

पाकिस्तान में सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक का इस्तेमाल करने वालों की संख्या बीते छह महीनें में लगभग दस प्रतिशत बढ़ी है.

दुनिया के 200 से ज्यादा देशों में सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वालों की गिनती करने वाली कंपनी सोशलबेकर्स के मुताबिक पाकिस्तान में 6,450,580 लोग फेसबुक से जुड़े हुए हैं.

सोशलबेकर्स का ये भी कहना है कि बीते छह महीने में पाँच लाख बासठ हज़ार नए लोग फेसबुक पर आए.

मर्द आगे औरत पीछे

पाकिस्तान की कुल आबादी 18 करोड़ है जहां लगभग 35 प्रतिशत लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं.

इस हिसाब से पाकिस्तान फेसबुक का इस्तेमाल करने वालों की सूची में दुनिया में 28वें स्थान पर है. अमरीका इस मामले में पहले पायदान पर है जहां 15.8 करोड़ लोग फेसबुक से जुड़े हैं. भारत में ये संख्या 4.8 करोड़ है.

पाकिस्तान में फेसबुक पर जो लोग हैं, उनमें से 50 प्रतिशत लोग 18-24 आयु-वर्ग के हैं. लगभग 69 प्रतिशत इस्तेमालकर्ता पुरुष हैं. यानी औरतें फेसबुक पर अपेक्षाकृत कम हैं.

पाकिस्तान स्थित तमाम राजनीतिक पार्टियां, बहुराष्ट्रीय कंपनियां, यहां तक कि जमात-उद-दावा जैसे प्रतिबंधित गुट भी फेसबुक पर मौजूद हैं.

'मार्केटिंग टूल'

जमात-उद-दावा के नेता हाफिज़ मोहम्मद सईद फेसबुक के जरिए संदेश देते हैं जहां उन्हें पसंद करने वालों की संख्या 861 है.

पंजाब के पूर्व गर्वनर सलमान तासीर की हत्या के दोषी मुमताज़ कादरी के समर्थन में फेसबुक पर कई पन्ने हैं.

क्रिकेट खिलाड़ी से नेता बने इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी फेसबुक पर बड़ी सक्रिय है, जहां वो अपनी राजनीतिक गतिविधियों की चर्चा करती है.

पाकिस्तान में बहुराष्ट्रीय कंपनियां फेसबुक को 'मार्केटिंग टूल' की तरह इस्तेमाल कर रही हैं.

शोध बताते हैं कि पाकिस्तान में गूगल के बाद फेसबुक को ही सबसे ज्यादा क्लिक मिलते हैं.

वैसे पाकिस्तान में मिल्लत फेसबुक नामक एक सोशल नेटवर्किंग साइट भी है जिसे छह युवाओं ने मई 2010 में शुरु किया था.

पैगम्बर मोहम्मद के कार्टून बनाने के लिए फेसबुक पर विवादित पेज के जवाब में इसे खासतौर पर मुसलमानों के लिए बनाया गया था.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.