पाकिस्तान में जल्द मिलेगा 'चरमपंथ बीमा'

Image caption पाकिस्तान के पेशावर में हुए बम धमाके की फाइल तस्वीर.

पाकिस्तान में चरमपंथी घटनाओं से होने वाले आर्थिक नुकसान से व्यापार वर्ग को बचाने के लिए एशियाई विकास बैंक (एडीबी) ने ‘टेरेरिजम इन्श्योरेंस पूल’ यानि चरमपंथ बीमा निधि बनाने में सरकार की मदद करने का फैसला किया है.

एशियाई विकास बैंक के एक अधिकारी के अनुसार पाकिस्तान और एडीबी के बीच ऐसी व्यवस्था स्थापित करने के लिए बातचीत जारी है.

चरमपंथ बीमा का उद्देश्य चरमपंथी घटनाओं के दौरान राष्ट्रीय और निजी संपत्ति को होने वाले नुकसान की कुछ भरपाई करना होगा.

अभी तक पाकिस्तान में कोई भी कंपनी चरमपंथ और इससे जुड़ी अन्य राजनीतिक समस्याओं की वजह से होने वाले नुकसान की भरपाई या बीमा नहीं करती.

राजनीतिक अस्थिरता

इस निधि के द्वारा सरकार और एशियाई विकास बैंक, बीमा कंपनियों के साथ मिलकर एक प्रक्रिया तय करेंगे जिसके तहत आतंकवाद और राजनीतिक अस्थिरता के कारण होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए दावा किया जा सकेगा.

अमरिका में ग्यारह सितंबर के हमलों के बाद दुनिया के कई देशों में चरमपंथ बीमा निधि स्थापित की गई है.

पाकिस्तान में कई साल से इस व्यवस्था की जरूरत महसूस की जा रही थी लेकिन राजनीतिक अस्थिरता के कारण बीमा कंपनियां इस मामले में कोई कदम उठाने से हिचकिचाती रही थीं.

विशेषज्ञों को उम्मीद है कि एशियाई विकास बैंक की भागीदारी और पाकिस्तान के नेतृत्व की वजह से अब बीमा कंपनियां भी इस व्यवस्था की स्थापना में रुचि लेंगी.

संबंधित समाचार