कराची आग: पूरे शहर में मातम का माहौल

 गुरुवार, 13 सितंबर, 2012 को 19:14 IST तक के समाचार
शोक में डूबे परिजन

अंतिम संस्कार के दौरान शोक में डूबे परिजन

पाकिस्तानी शहर कराची की कपड़ा फ़ैक्ट्री में मंगलवार को लगी आग में मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. इस बीच मृतकों के परिजन उनका नमाजे जनाजा निकाल रहे हैं और पूरा शहर शोक में डूबा हुआ है.

मरने वालों की संख्या लगभग ढाई सौ तक पहुंच गई है और उनमें 100 शव ऐसे निकाले गए हैं जो पूरी तरह जल चुके हैं और उनकी पहचान करना बहुत मुश्किल हो रहा है.

मृतकों के परिजन अस्पताल के बाहर अपने ख़ून का सैंपल देने के लिए लंबी लाइनों में खड़े हैं ताकि डीएनए जांच के ज़रिए शवों की पहचान की जा सके.

बुधवार को अधिकारियों ने कहा था कि 264 लोगों की मौत हो चुकी है.

हालाकि बचावकर्मी अभी भी फ़ैक्ट्री में शवों की तलाश कर रहें है और आशंका है कि मरने वालों की संख्या और बढ़ सकती है.

स्थानीय मीडिया के अनुसार बचावकर्मी अभी तक बिल्डिंग के निचले हिस्से में पूरी तरह नहीं पहुंच सके हैं.

मंगलवार को कराची के कपड़ा फ़ैक्ट्री में आग लगने से कुछ घंटे पहले लाहौर के एक जूता फ़ैक्ट्री में भी आग लगी थी जिसमें 25 लोग मारे गए थे.

इससे अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि पाकिस्तान में बिल्डिंगों को आग से बचाने के लिए कोई पुख्ता इंतज़ाम नहीं है.

कराची में आग

चार मंज़िला इमारत में बाहर निकलने के लिए केवल एक रास्ता था.

पुलिस दोनों जगहों मे लगी आग की जांच कर रही है.

ख़बरों के मुताबिक़ जेनेरेटर के ख़राब होने की वजह से आग लगी होगी.

चश्मदीदों के अनुसार कराची कपड़ा फ़ैक्ट्री में जब आग लगी तब सैंकडो़ लोग बिल्डिंग में काम कर रहे थे.

कपड़ा उद्योग

आग लगने की हालत में चार मंज़िला इमारत से बाहर निकलने का केवल एक रास्ता था और कोई इमरजेसी दरवाज़ा नहीं था और खिड़कियों पर लोहे के ग्रील लगे थे जिनसे लोगों का निकलना मुश्किल हो गया था.

अंदर फंसे हुए लोग अपने परिजनों और दोस्तों से लगातार संपर्क कर रहे थे लेकिन राहतकर्मी पहुंचने के बाद भी कई लोगों को नहीं बचाया जा सका.

पूरे पाकिस्तान में कपड़े फ़ैक्ट्री के मालिकों को बिजली का इंतज़ाम ख़ुद करना होता है क्योंकि पाकिस्तान में बिजली सप्लाई की हालत बहुत ख़राब है.

लेकिन पाकिस्तान की ख़राब अर्थव्यवस्था को देखते हुए वहां के कपड़ा उद्योग का बहुत महत्व है.

पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक के अनुसार 2011 में पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था में कपड़ा उद्योग का हिस्सा 7.4 फ़ीसदी था और पूरे निर्माण उद्योग में मिलने वाले रोज़गार का 38 फ़ीसदी इसी क्षेत्र से आता है.

पाकिस्तानी निर्यात का 55.6 फीसदी हिस्सा भी कपड़ा उद्योग से आता है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.