BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
बुधवार, 10 अक्तूबर, 2007 को 17:38 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
वीरप्पन की पत्नी टीवी सीरियल से नाराज़
 
वीरप्पन का तमिलनाडु और कर्नाटक में भारी आतंक था
कुख्यात दस्यु सरगना वीरप्पन की विधवा ने कहा है कि वह अपने पति के जीवन पर बने एक टीवी सीरियल का प्रसारण रुकवाने के लिए तमिलनाडु हाइकोर्ट से गुहार लगाएँगी.

वीरप्पन की विधवा मुथुलक्ष्मी ने निचली अदालत में 'सांथनकाडु' (चंदन वन) नाम के सीरियल को रुकवाने की अपील की थी जिसे ठुकरा दिया गया है.

इस तमिल सीरियल का प्रसारण 15 अक्तूबर से शुरू होना है और वीरप्पन की पत्नी का कहना है कि इसके प्रसारण से उनका और उनकी दो बेटियों का जीना मुश्किल हो जाएगा.

वीरप्पन के ऊपर 100 से अधिक लोगों की हत्या का आरोप था और उसे 2004 में विशेष टास्क फोर्स ने एक मुठभेड़ में मार डाला था.

मुथुलक्ष्मी कहती हैं, "इस सीरियल के निर्देशकों ने मुझसे बहुत दोस्ताना तरीक़े से बातचीत की और सब कुछ मेरी जानकारी के बगैर रिकॉर्ड कर लिया."

मुथुलक्ष्मी ने पत्रकारों से कहा, "वे मेरे और वीरप्पन के जीवन के बारे में सब कुछ जानते हैं जिसे एक सीरियल बनाकर दिखाना चाहते हैं, मैं ऐसा नहीं होने दे सकती."

वीरप्पन की विधवा का कहना है कि सीरियल के प्रसारण के बाद लोग उनसे बुरा बर्ताव करेंगे और इसका बुरा असर उनकी दो नाबालिग बच्चियों पर पड़ेगा.

 वे मेरे और वीरप्पन के जीवन के बारे में सब कुछ जानते हैं जिसे एक सीरियल बनाकर दिखाना चाहते हैं, मैं ऐसा नहीं होने दे सकती
 
मुथुलक्ष्मी, वीरप्पन की विधवा

लेकिन सीरियल के निर्देशक वी गौतमन कहते हैं कि मुथुलक्ष्मी का डर अकारण है, इस सीरियल के प्रसारण से तो उन्हें सहानुभूति मिलेगी.

गौतमन कहते हैं, "इस सीरियल में वीरप्पन के सकारात्मक पक्ष पर ध्यान दिया गया है, इसमें दिखाया गया है कि वह किन परिस्थतियों में डाकू बना. इसमें उन्हें एक नायक के रुप में दिखाया गया है, वे कई लोगों के लिए नायक थे भी."

गौतमन का कहना है कि इस सीरियल के लिए बहुत गहराई से रिसर्च किया गया है, इस सीरियल की शूटिंग के लिए गौतमन की टीम 100 दिन से अधिक समय तक सत्यमंगल के जंगलों में रही है जहाँ कभी वीरप्पन का आतंक था.

वीरप्पन के सिर पर पाँच लाख रुपए का इनाम था और कन्नड़ फ़िल्म अभिनेता राजकुमार का अपहरण करने के बाद वह ख़ास तौर पर चर्चा में आया था.

 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
'वीरप्पन ने समर्पण की पेशकश की थी'
20 अक्तूबर, 2004 | भारत और पड़ोस
राजनीतिक संबंधों की जाँच होगी
20 अक्तूबर, 2004 | भारत और पड़ोस
अंतिम संस्कार पर भी विवाद
20 अक्तूबर, 2004 | भारत और पड़ोस
लंबी मूँछों वाला चंदन तस्कर
19 अक्तूबर, 2004 | भारत और पड़ोस
वीरप्पन का शव देखने भीड़ उमड़ी
19 अक्तूबर, 2004 | भारत और पड़ोस
इंटरनेट लिंक्स
बीबीसी बाहरी वेबसाइट की विषय सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है.
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>