सैमसंग गैलेक्सी नोट 7: आपके सात अहम सवाल

सैमसंग के गैलैक्सी नोट 7 हैंडसेट को दूसरी बार वापस लेना इस दक्षिण कोरियाई कंपनी और मोबाइल फ़ोन उद्योग के लिए दुखद घटना है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इसके पहले भी बैटरी में समस्याओं को लेकर मोबाइल हैंडसेट बाज़ार से वापस लिए गए हैं.

नोकिया ने 2007 में अधिक गर्म होने की वजह से चार करोड़ 60 लाख बैटरियों को वापस मंगा लिया था. वो बैटरियां हैंडसेट से हटा लेने लायक थीं.

आग लगने की घटनाएं सामने आने के बाद नोट 7 का उत्पादन बंद करने की घोषणा करते हुए सैमसंग ने इस फ़ोन को रखने वालों से कहा, ''अपने स्मार्टफ़ोन का प्रयोग करना बंद कर दें. डाटा का बैकअप ले लें और फ़ोन बंद कर दें.''

कंपनी इस फ़ोन के लिए हर्ज़ाना देने की एक योजना के साथ सामने आई है. ग्राहकों को या तो पैसे वापस किए जा रहे हैं या उन्हें गैलैक्सी एस-7 या एस-7 एज फ़ोन और कुछ पैसे दिए जा रहे हैं.

इसके बाद भी अभी भी बहुत से ऐसे सवाल हैं, जिनका जवाब मिलना बाक़ी है.

हैंडसेट अपने आप जलने क्यों लगता है?

इमेज कॉपीरइट AP

पिछले महीने सैमसंग ने जब फ़ोन को वापस मंगाया था तो फ़ोन में बैटरी से जुड़ी समस्या थी.

ब्लूमबर्ग की एक लीक रिपोर्ट के मुताबिक़ कंपनी की ओर से नियामकों को भेजी रिपोर्ट में कहा गया है कि बनाने के समय आई एक ख़राबी की वजह से बैटरियां थोड़ी बड़ी हो गईं. जब उन्हें हैंडसेट में लगाया गया तो उन्होंने उसपर दबाव डाला.

इसका आरोप कलपुर्जे बनाने वाले सैमसंग एसडीआई पर गया. बाद में तय किया गया कि इसे एटीएल कंपनी की ओर से बनाई गई बैटरी से बदला जाएगा.

अब दूसरे बैच के भी कई हैंडसेट अधिक गर्म हो गए. अभी यह साफ़ नहीं है कि कहीं वास्तविक समस्या का ग़लत इलाज़ तो नहीं किया गया.

अमरीकी अख़बार 'न्यूयॉर्क टाइम्स' के मुताबिक़ सैमसंग के इंजीनियर जब कमी को दूर करने की कोशिश कर रहे थे तो वो टेस्टिंग के दौरान फ़ोन में धमाका नहीं करा पाए.

इस मामले में सैमसंग के प्रवक्ता ने केवल इतना ही कहा, ''गैलेक्सी नोट 7 के साथ हाल में आई समस्याओं की जांच-पड़ताल में हम संबद्ध नियामक संस्थाओं के साथ मिलकर काम कर रहे हैं.''

कितने गैलेक्सी 7 बने और कितने में विस्फोट हुआ?

इमेज कॉपीरइट EPA

सैमसंग ने अभी तक यह नहीं बताया है कि मंगलवार को उत्पादन बंद करने से पहले तक उसने कितने गैलेक्सी नोट 7 हैंडसेट बनाए.

सैमसंग ने दो सितंबर को कहा था कि उसे शुरुआत में क़रीब 25 लाख हैंटसेट वापस लेने होंगे.

कंपनी ने 27 सितंबर को कहा कि कोरिया और अमरीका में बेचे गए नोट 7 हैंडसेट में से 60 फ़ीसद को नए हैंडसेट से बदल दिया गया है.

गैलेक्टी नोट 7 सबसे अधिक इन्हीं दो देशों में ही बेचे गए. यूरोप में केवल 50 हज़ार हैंडसेट ही बिक पाए.

दक्षिण कोरिया के ग्राहकों को बेचने के लिए पिछले हफ़्ते ही नोट 7 बाज़ार में लौटा था.

इस तरह कुल संख्या क़रीब 40 लाख होती है.

आईएचएस का शुरुआती अनुमान था कि अगर सब कुछ तय योजना के मुताबिक़ हुआ तो सैमसंग क़रीब 60 लाख नोट 7 बनाएगा.

यह अभी बहुत अधिक साफ़ नहीं है कि कितने हैंडसेट में अधिक गर्म होने की समस्या पेश आई.

सैमसंग ने कहा है कि जब उसने पहली बार फ़ोन को बाज़ार से वापस लिया था तो उसे इस तरह की 35 शिकायतें मिली थीं और मिडिया में सात मामले ऐसे आए जिनमें बदले गए फ़ोन के भी प्रभावित होने की बात कही गई थी.

अब तक सभी हैंडसेट का क्या हुआ?

इमेज कॉपीरइट PA

सैमसंग ने कहा है कि वो हैंडसेट का वापस लेने के लिए सभी तरीक़े अपनाएगा.

अभी वो सभी रजिस्टर्ड यूजर्स को ईमेल और नोटिफ़िकेशन भेज रहा है. हालांकि वास्तविक रिकॉल के समय उसने साफ़्टवेयर अपडेट किया था, जो बैटरी को पूरी तरह रिचार्ज होने से रोकता था.

ऐसी अटकलें भी हैं कि अगर लोगों ने हैंडसेट देने से इनकार कर दिया तो किसी दूसरे तरह की पाबंदी लगाई जा सकती है या पूरी तरह तालाबंदी की जा सकती है.

यहां यह सवाल भी उठ रहा है कि वापस लिए गए हैंडसेट का सैमसंग क्या करेगा.

कंपनी के प्रवक्ता ने इस पर कुछ कहने से मना कर दिया कि क्या इन फ़ोन के कल-पुर्जों का इस्तेमाल दूसरे उत्पादों में किया जाएगा.

लेकिन पर्यावरण हितों के लिए काम करने वाले समूह फ़्रेंडस ऑफ अर्थ ने इस काम को पूरी ज़िम्मेदारी से करने की अपील की है.

संस्था के नीति निदेशक माइक चील्ड्स का कहना है, ''मोबाइल फ़ोन में कीमती और अहम सामान होते हैं. उनको दफ़नाने से पर्यावरण को भारी नुक़सान पहुंचेगा. कई बार विकासशील देशों में इसके भयावह परिणाम होते हैं.''

वो कहते हैं, ''सभी फ़ोन को उनका जीवन ख़त्म होते ही सौ फ़ीसद रिसाइकिल किया जाना चाहिए या जब वो किसी कमी की वजह से वापस आएं तब.''

वो कहते हैं कि मोबाइल फ़ोन बनाने वाली कंपनी की ग़लती से पर्यावरण को नुक़सान नहीं होना चाहिए.

क्या एक्सेसरीज़ खरीदने वालों को भी मिलेगा मुआवज़ा?

इमेज कॉपीरइट Getty Images

बहुत से उपभोक्ताओं ने गैलेक्सी नोट 7 के लिए कवर, ब्लैकबेरी जैसा कीबोर्ड कवर, वाइड एंगल लेंस और पावर बैंक खरीदे हैं.

सैमसंग के एक प्रवक्ता ने कहा, ''क़ीमतों को कवर कराने को लेकर अभी विक्रेताओं से बातचीत चल रही है.''

कुछ उपभोक्ता यह जानना चाहते हैं कि क्या दूसरी पीढ़ी के वर्चुअल रियल्टी हेडसेट (गीयर वीआर), जो कि प्री आर्डर करने पर हैंडसेट के साथ मिला था, उसे वापस करने पर अतिरिक्त पैसा उन्हें मिलेगा.

अलग से इसे ख़रीदने पर इसकी क़ीमत क़रीब 100 पाउंड पड़ती है.

सैमसंग के प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी इसे उपहार के रूप में लेती है. लेकिन अतिरिक्त मुआवज़े की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता.

क्या सैमसंग हैंडसेट से निकालने लायक बैटरी बनाएगा?

इमेज कॉपीरइट LG

सैमसंग गैलेक्सी ने ऐपल के आईफ़ोन से अलग दिखने के लिए उपभोक्ताओं को फ़ोन को पीछे से खोलकर उसकी बैटरी निकालने की सुविधा दी थी.

लेकिन एस-6 और नोट 5 फ़ोन ने इस बदल दिया. इसने सैमसंग को हैंडसेट की डिज़ाइन को और कॉम्पैक्ट बनाने में मदद मिली और वाटर रेज़िस्टेंस जैसी सुविधा भी मिली.

कुछ लोगों का कहना है कि अगर सैमसंग ने ये बदलाव नहीं किए होते तो वो इस नई समस्या से बच सकता था.

देखने वाली बात यह है कि सैमसंग के घरेलू मार्केट में उसकी प्रतिद्वंद्वी एलजी ने अपने दो टॉप मॉडल में निकालने वाली बैटरी लगाई है.

हालांकि सैमसंग ने भविष्य के डिज़ाइन को लेकर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. लेकिन एक विशेषज्ञ का कहना है कि स्मार्टफ़ोन बनाने वालों को अपनी योजना की समीक्षा करनी चाहिए.

आईएचएस के इयान फ़ाग ने कहा, ''आधुनिक स्मार्टफ़ोन के लिए अधिक पावर की ज़रूरत होती है क्योंकि वो बड़े होते हैं, स्क्रीन का रेजोल्यूशन अधिक होता है, प्रोसेसर तेज़ होता है और 4जी डाटा इस्तेमाल करते हैं. लेकिन उन्हें कॉम्पैक्ट बनाए रखने और अपभोक्ताओं पर उन्हें तेज़ी से रिचार्ज करने का दबाव अधिक होता है.''

सब लोग अपने आने वाले स्मार्टफ़ोन के लांच पर नज़र जमाए हुए हैं और उनके इंजीनियरों की टीम उसके चार्जिंग के तरीक़े और इस बात पर काम कर रही है कि उसमें वही समस्या न आए.

वहीं सैमसंग अपने आने वाले मॉडलों पर क़रीबी नज़र लगाए हुए है, यह भी संभव है कि वो नोट 7 की तरह उनके डिजाइन के कुछ हिस्से को साझा भी करे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)