मोबाइल के गूगल सर्च पर मिलेंगे बेहतर नतीजे

इमेज कॉपीरइट AP

स्मार्टफोन हमारी ज़िन्दगी को रोज़ अलग अलग तरीके से बदल रहा है. हर दिन नए ऐप, नयी सर्विस ने लोगों के लिए तरह तरह के काम आसान कर दिए हैं. हर चीज़ को सर्च करने को पहले से आसान बनाने की कोशिश की जा रही है.

गूगल सर्च जल्दी ही पहले से अब अलग दिखेगा. दुनिया की सबसे बड़ी सर्च कंपनी अब कोशिश कर रही है कि स्मार्टफोन और डेस्कटॉप पर किये जाने वाले सच अलग अलग दिखें. सर्च इंजन की रिपोर्ट के अनुसार गूगल एक मोबाइल इंडेक्स तैयार कर रहा है जिससे जो भी सर्च मोबाइल पर किया जाएगा, उसके नतीजे उसी से दिखाए जाएंगे.

सर्च इंजन लैंड की रिपोर्ट के अनुसार डेस्कटॉप के लिए जो इंडेक्स होगा वो हमेशा मोबाइल की तरह अपडेट नहीं किया होगा होगा. ऐसे में लोगों को अपने सर्च मोबाइल पर ज़्यादा करने की आदत पड़ने की उम्मीद की जा सकती है. डिजिटल ट्रेंड्स के अनुसार, अगले कुछ महीनों में स्मार्टफोन के लिए अलग सर्च इंडेक्स लॉन्च करने की घोषणा की जा सकती है.

गूगल ने ये घोषणा की है कि उसकी कोशिश है कि सभी लोग उसके प्रोडक्ट और सर्विस को इस्तेमाल करने में अपने मोबाइल का ज़्यादा से ज़्यादा इस्तेमाल करें. ऐसा करने से गूगल को अपने ग्राहकों के बारे में जानने में ज़्यादा आसानी होगी. इंटरनेट पर कई वेबसाइट और ऑनलाइन पब्लिशर के लिए ये ज़रूरी कर दिया है कि वो अपने कंटेंट को स्मार्टफोन को ध्यान में रख कर बनाएं.

कुछ महीने पहले गूगल ने एक्सेलरेटेड मोबाइल पेज को लॉन्च किया था जिससे कुछ भी कंटेंट को सर्च करने के बाद स्मार्टफोन पर जल्दी दिखाई देने में मदद मिलती है.

इमेज कॉपीरइट Lauren Hurley

मोबाइल फ़ोन पर इंटरनेट का इस्तेमाल कई देशों में ब्रॉडबैंड से कहीं तेज़ रफ़्तार से बढ़ रहा है. इसलिए सभी कंपनियां अपने बारे में जानकारी देने लिए मोबाइल पर चलने वाले वेबसाइट बना रही हैं. हाल ही में, कई ई कॉमर्स और सोशल मीडिया कंपनियों ने भी अपने वेबसाइट के ऐसे वर्जन लॉन्च किये जिन्हें बहुत आसानी से मोबाइल फ़ोन पर लोड किया जा सकता है.

भारत जैसे देश में मोबाइल ब्रॉडबैंड इस्तेमाल करने वालों की संख्या अब 35 करोड़ से ज़्यादा मानी जाती है. इनमें से कई ऐसे लोग भी हैं जिन्होंने लैंडलाइन पर ब्रॉडबैंड का इस्तेमाल कभी नहीं किया है. ऐसे ग्राहकों की ज़रूरतों को समझने से गूगल और उसके जैसी कंपनियों को दुनिया के उस हिस्से तक पहुंचने में मदद मिलेगी जहां पर फिलहाल इंटरनेट नहीं पहुंच सका है. मोबाइल के ज़रिये लोगों तक इंटरनेट पहुंचाना कंपनियों के लिए बहुत सस्ता भी पड़ता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)