व्हाट्सऐप पर वीडियो सर्विस लॉन्च होगा?

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption फ़ेसबुक

वीडियो शेयरिंग पर अब व्हाट्सऐप और फ़ेसबुक पर ख़ास ज़ोर दिया जा रहा है. वीडियो की ऑनलाइन अहमियत को देखते हुए व्हाट्सऐप और फ़ेसबुक पर स्नैपचैट जैसे एक के बाद एक फ़ीचर शुरू किये जा रहे हैं.

एंड्राइड हेडलाइंस की ख़बर (http://www.androidheadlines.com/2016/11/whatsapp-beta-debuts-experimental-status-feature.html) के अनुसार व्हाट्सऐप के वर्जन 2.16.336 वाले ऐप में अब एक नया फ़ीचर शुरू किया गया है जिसका नाम है 'स्टेटस'.

आपके स्मार्टफ़ोन पर व्हाट्सऐप का ये वर्जन है तो भी ये फ़ीचर नहीं दिखाई देगा क्योंकि ऐप की डिफ़ॉल्ट सेटिंग ऐसी की गई है कि ये किसी को दिखाई नहीं दे. इसको देखने के लिए आपको ऐप का बीटा वर्ज़न डाउनलोड करना होगा और उसे रूटेड स्मार्टफ़ोन पर ही किया जा सकता है. उसके बाद व्हाट्सऐप के सेटिंग मेनू में जाकर 'स्टेटस' ढूंढना होगा और उसे इनेबल करना पड़ेगा.

स्नैपचैट युवाओं के बीच बहुत ही पसंद किया जाता है. शायद इसीलिए कुछ स्नैपचैट की तरह ही 'स्टेटस' लोगों को एक छोटा सा वीडियो रिकॉर्ड करके, अलग-अलग फ़िल्टर लगाकर अपने दोस्तों से शेयर करने की सुविधा देता है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption व्हाट्सऐप

लेकिन फ़िलहाल व्हाट्सऐप पर ये सिर्फ़ एक प्रयोग के रूप में देखा जाना चाहिए. हो सकता है अपने प्रयोग के बाद व्हाट्सऐप इस फ़ीचर को लॉन्च नहीं करे. लेकिन इससे एक बात तो साफ़ है - फ़ेसबुक, व्हाट्सऐप, इंस्टाग्राम जैसी सर्विस के लिए छोटे और लंबे विडियो के लिए तरह तरह के प्रयोग किये जा रहे हैं.

फ़ेसबुक चाहता है कि वो वीडियो शेयरिंग वेबसाइट के रूप में यूट्यूब का जो वर्चस्व है उसको टक्कर दे. इसके लिए उसने वीडियो से जुड़े सभी फ़ीचर को फ़ेसबुक, व्हाट्सऐप और मैसेंजर के लिए काफ़ी अहम कर दिया है.

व्हाट्सऐप दुनिया का सबसे बड़ा मैसेजिंग प्लेटफ़ार्म है और हर दिन उसे 100 करोड़ से ज़्यादा लोग इस्तेमाल करते हैं. उसे इस्तेमाल करने वाले ही नहीं उसके जैसे दूसरी सर्विस देने वाली कंपनियां भी उसके फ़ीचर पर ख़ास ध्यान देती हैं ताकि वो भी अपने यूज़र के लिए उन्हें लॉन्च कर सकें.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे