फ़ेसबुक, ट्विटर, यू-ट्यूब, माइक्रोसॉफ्ट हटाएंगे उग्रवाद वाली सामग्री

इमेज कॉपीरइट AFP

प्रमुख वैश्विक तकनीकी कंपनियों ने उग्रवाद को बढ़ावा देने वाली ऑनलाइन सामग्री के प्रचार-प्रसार को रोकने के संयुक्त तौर पर एक नया प्रोग्राम शुरु किया है.

ये ट्विटर, फ़ेसबुक, यू ट्यूब और माइक्रोसॉफ्ट का प्रोग्राम है.

जैसे ही ट्विटर, फ़ेसबुक, यू ट्यूब और माइक्रोसॉफ्ट किसी भी संदेहास्पद सामग्री की पहचान करेंगे, वो इसे एक विशेष डिजिटल सिग्नेचर यानी डिजिटल पहचान दे देगा.

आईएस से जुड़े 1.25 लाख ट्विटर एकाउंटों पर रोक

अमेज़न ने हटाई इस्लामिक स्टेट की पत्रिका

इमेज कॉपीरइट Reuters

इससे तुंरत ही एक चेतावनी जारी होगी और ये सभी कंपनी तेजी से ये जांच करेंगी कि उनकी फ़ीड या टाइमलाइन में कही ये आपत्तिजनक डाटा तो नहीं है, और यदि है तो उसे तत्काल डिलीट कर दें.

ये प्रक्रिया पूरी तरह से ऑटोमेटिड नहीं होगी, ताकि कहीं ग़लती से पत्रकारों की ओर से प्रोमोट की गई सामग्री जिसमें हिंसक घटना रिपोर्ट की गई है, वो सामग्री डिलीट न हो जाए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे