ग्राहकों को पसंद नहीं आए इस बरस महंगे स्मार्टफोन

इमेज कॉपीरइट Reuters

स्मार्टफोन की दुनिया में ऐपल का जादू साल 2016 में कुछ कम होता दिखाई देने लगा. साल 2007 में आईफोन के लॉन्च होने के बाद ऐपल ने स्मार्टफोन की दुनिया में कुछ ऐसा जादू किया था कि लोग उसके प्रोडक्ट के लिए रात भर लाइन लगाकर इंतज़ार करते थे.

लेकिन स्मार्टफोन की दुनिया के लिए साल 2016 अगर याद रहेगा तो सैमसंग के गैलेक्सी नोट 7 की बैटरी की दिक्कतों के कारण, जिसने दुनिया भर में मानो एक नयी परेशानी खड़ी कर दी.

किसी स्मार्टफोन के हार्डवेयर में परेशानी आई तो किसी के सॉफ्टवेयर में. गिजबॉट के मुताबिक कुल मिलाकर ये साल कई स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों के लिए मुश्किलों भरा रहा.

पढ़ें- टॉयलेट पेपर से स्मार्टफोन पोंछिए!

पढ़ें- एंड्राइड स्मार्टफोन वाले गुलिगन से सावधान!

पढ़ें- स्मार्टफोन पर बिना इंटरनेट खेलिए ये गेम्स

इमेज कॉपीरइट Reuters

सैमसंग के गैलेक्सी नोट 7 को दुनियाभर में बड़े धूमधाम से लॉन्च किया गया था. लेकिन जैसे जैसे उसके स्मार्टफोन एक के बाद एक खराब बैटरी के कारण फटते गए, दुनिया की सबसे बड़ी स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी के लिए बड़ी सिरदर्दी बनते गए.

उसके बाद शुरू हुआ लोगों के स्मार्टफोन वापस करने का सिलसिला लेकिन कई दिनों तक फ़ोन के फटने की ख़बरों ने सैमसंग के विज्ञापनों की हवा निकाल दी. स्थिति कुछ ऐसी बिगड़ गई कि कई देशों में हवाई जहाज़ में गैलेक्सी नोट 7 ले जाने की इजाज़त नहीं थी.

कुछ दिनों तक ऐसी ख़बरों से जूझने के बाद सैमसंग ने ये तय किया कि लोग अपने स्मार्टफोन को कंपनी को वापस कर सकते हैं.

पढ़ें- स्मार्टफोन के बिना कैशलेस पेमेंट सस्ता हुआ

पढ़ें- पुराने स्मार्टफोन का डेटा सेव करने के 5 तरीक़े

पढ़ें- स्मार्टफोन में कैसे बदलें फ़ाइल का फ़ॉर्मेट

इमेज कॉपीरइट Sony

सैमसंग का अब कहना है कि अमरीकी बाज़ारों में 90 फीसदी से ज़्यादा लोगों ने अपने गैलेक्सी नोट 7 वापस कर दिए हैं. लेकिन दूसरे देशों में अब भी कई लोगों के पास ये स्मार्टफोन काम कर रहे हैं.

कंपनी को ये उम्मीद है कि वो नए ब्रांड को लॉन्च करने के बाद मार्केट में अपनी पैठ फिर से बना लेगी. लोग बढ़िया स्मार्टफोन के लिए जेब ढीली करने को तैयार नज़र आए, लेकिन वो अपने पैसे सोनी के एक्सपीरिया स्मार्टफोन के लिए खर्च करने तो तैयार नहीं लगे.

साल 2016 में सोनी कंपनी ने एक्सपीरिया एक्सजेड लॉन्च किया था जिसकी बनावट बेहद लाजवाब थी. इसके फीचर भी कम खास नहीं थे. इसमें उम्दा क्वॉलिटी का रियर कैमरा लगा हुआ था जो 5 एक्सिस वीडियो स्टैबलाइजेशन तकनीक से लैस था और कैमरे में सेंसर इमेजिंग लगा हुआ था.

पढ़ें- इंटरनेट की लत छुड़वानेवाला ऐप

पढ़ें- स्मार्टफोन में भारतीय भाषा के कीबोर्ड अब ज़रूरी

पढ़ें- स्मार्टफोन की लाइट आंखों के लिए बुरी

इमेज कॉपीरइट Reuters

इतना सबकुछ होने के बाद ये फोन पूरी तरह फ्लॉप साबित हुआ. इसकी सिर्फ एक वजह थी कि फोन की कीमत जरूरत से ज्यादा रखी गई थी जो करीब 52 हजार रुपये के आसपास थी.

मतलब साफ है कि ये आम ग्राहकों की पहुंच से कोसो दूर थी और कीमत के हिसाब से फीचर भी बहुत ज्यादा नहीं मिल रहा था. आमतौर पर ग्राहकों की कोशिश रहती है कि कम कीमत पर बेहतर फीचर मिले.

जरूरत से ज्यादा कीमत होने पर कई फोन फ्लॉप साबित होते हैं, सोनी एक्सपीरिया एक्सजेड के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ. सोनी एक्सपीरिया की कोशिश थी कि वो साल 2016 में जेड सीरीज के फोन के बाद एक्स सीरीज के फोन की तरफ ध्यान दे.

इमेज कॉपीरइट AFP/GETTY

सोनी ने इस साल एक्सपीरिया एक्स लॉन्च किया था जो स्नैपड्रैगन एसओसी पर काम करता था. इसमें 23 मेगापिक्सल कैमरा लगा हुआ था. जो बाकी ढेर सारे स्मार्टफोन से कहीं ज्यादा बेहतर था.

भले ही ये फोन फीचर के मामले में काफी खास था फिर भी इसकी बिक्री इतनी ज्यादा नहीं हुई जितनी की उम्मीद थी. 50 हजार रुपये की कीमत चुका कर ज्यादातर लोग इस फोन को खरीदना नहीं चाहेंगे. ये फोन भी फ्लॉप साबित हुआ.

गूगल पिक्सेल के लॉन्च की खबर सुनकर दूसरी कंपनियों को चिंता सताने लगी थी. फिर भी फोन एक फ्लॉप साबित हुआ जिसकी सिर्फ एक वजह थी, जरूरत से ज्यादा कीमत होना.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इन दोनों फोन की कीमत 57,000 से लेकर 76,000 तक थी. कई विशेषज्ञों का कहना है कि अगर लोगों को इतनी कीमत देनी ही है तो वो क्यों न आईफोन का इस्तेमाल करेगा. गूगल पिक्सेल की बिक्री से खुश है लेकिन आईफोन से टक्कर लेने में अभी पिक्सेल को थोड़ा समय लगेगा.

सोनी एक्सपीरिया के मुकाबले गूगल पिक्सेल की हालत कुछ बढ़िया थी लेकिन उसे सबसे सफल स्मार्टफोन की श्रेणी में शामिल नहीं किया जा सकता. गूगल ने अपने सबसे बढ़िया स्मार्टफोन से और उम्मीद लगा रखी थी.

हर आईफोन की तरह इस साल ऐपल आईफोन7 का इंतजार लोगों को बेसब्री से था, लेकिन सैमसंग गैलेक्सी नोट7 की तरह ऐपल के लिए भी 7 नंबर काफी बदकिस्मत साबित हुआ.

इमेज कॉपीरइट AFP

कई देशों से इसकी भी बैटरी में विस्फोट होने की खबरें आईं. हालांकि ये संख्या में इतनी ज्यादा नहीं थी जितनी सैमसंग गैलेक्सी नोट7 के मामले में थी.

आई फोन-7 में कई नए फीचर जोड़े गए थे, जैसे डुअल रियर कैमरा, बिना तार का ईयरफोन ये कई ऐसी चीजें थी जो आईफोन 7 से बेहतर थीं. लेकिन बैटरी में खराबी की वजह से इस फोन की काफी बदनामी हुई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे