ट्विटर पर गालीगलौज का अब होगा इलाज

इमेज कॉपीरइट AP

ट्विटर के प्लेटफॉर्म पर गालीगलौज करना अब मुश्किल हो जाएगा. इसकी रोकथाम के लिए ट्विटर ने कई बदलाव किए हैं. मकसद साफ है, असंसदीय भाषा के इस्तेमाल पर लगाम लगाना.

पिछले दिनों यूजर्स को सताए जाने की घटनाओं को लेकर ट्विटर को कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा था.

ट्विटर ने तीन अहम बदलावों की घोषणा की है जिसे आने वाले हफ्तों में लॉन्च किया जाएगा.

ट्विटर पर सक्रिय सुषमाः कहीं मजबूरी तो नहीं?

अब कांग्रेस का ट्विटर अकाउंट भी हैक!

राहुल गांधी का ट्विटर अकाउंट हैक हुआ

इमेज कॉपीरइट Reuters

ट्विटर के इंजीनियरिंग वाइस प्रेसिडेंट एड हो ने अपने ब्लॉग पोस्ट में कहा, "ट्विटर को एक सुरक्षित जगह बनाना हमारी पहली प्राथमिकता है. हम अपनी बात कहने की आजादी के पक्ष में खड़े हैं और लोगों को ये हक होना चाहिए कि वे किसी मुद्दे के सभी पहलुओं को देख-सुन-समझ सकें. जब बदजुबानी के जरिए उन आवाजों को दबाने की कोशिश की जाती है तो अपनी बात कहने की आजादी खतरे में पड़ जाती है. हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे और ये रोकने के लिए हम नए कदम उठाने जा रहे हैं."

पिछले महीने चीफ एग्जिक्यूटिव जैक डोर्सी ने एक ट्वीट में ट्विटर पर रियल टाइम डायलॉग को बढ़ावा देने का वादा किया था.

ट्रंप के ख़िलाफ़ लड़ाई को ट्विटर ने दिए करोड़ों

ट्विटर पर फिर भिड़े अमरिंदर और केजरीवाल

सुषमा का गुस्सा और मज़ाक, सब ट्विटर पर

इमेज कॉपीरइट PA

दूसरे प्रमुख बदलाव हैं:

सुरक्षित सर्च रिजल्ट: ऐसे ट्वीट हटाए जाएंगे जिनमें संवेदनशील कॉन्टेंट की संभावना है.

खराब क्वॉलिटी वाले या असंसदीय भाषा वाले कॉमेंट ट्वीट्स हटाये जाने का विकल्प दिया जाएगा.

ट्विटर, साउंडक्लाउड साइबर हमलों के 'प्रभाव' में

उग्रवाद को बढ़ावा देती ऑनलाइल सामग्री डिलीट होगी

एटीएम की लाइन में राहुल, ट्विटर पर चुहलबाज़ी

इन विकल्पों का ये मतलब हरगिज नहीं होगा कि ये ट्वीट्स ट्विटर के प्लेटफॉर्म से पूरी तरह से हट जाएंगे लेकिन यूजर्स के पास ये ऑप्शन रहेगा कि वे उन्हें देखना चाहते हैं या नहीं.

पिछले दिनों ट्विटर की बिक्री की खबर भी गर्म रही थी लेकिन महीनों की अफवाह के बाद कहा गया कि गूगल, ऐपल और डिज्नी जैसी कंपनियां दिलचस्पी रखने के बावजूद पीछे हट गईं.

संभावित खरीदारों के रुझान की कमी को देखते हुए ट्विटर को इस मुद्दे से भी निपटना है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे