दुबई में ड्रोन में घूम सकेंगे मुसाफिर

दुबई में एक पैसेंजर ड्रोन तैयार किया गया है. यह जुलाई से नियमित रूप से काम करना शुरू कर देगा.

यह ड्रोन एक बार में 100 किलो वजन वाले एक व्यक्ति को उठा सकता है और उसे लेकर 30 मिनट तक हवा में उड़ सकता है.

दुबई सड़क और यातायात संस्था के प्रमुख ने विश्व सरकार शिखर सम्मेलन में पैसेंजर ड्रोन के बारे में जानकारी दी है.

प्रमुख मैट्ट अल-तयर ने बताया कि चीनी मॉडल 'इहैंग' का टेस्ट ड्राइव कर लिया गया है.

सवार होने वाला व्यक्ति ड्रोन की टच स्क्रीन की मदद से बताता है कि उसे कहां जाना है. नियंत्रण करने के लिए ड्रोन के भीतर कोई दूसरा तरीका नहीं है.

सरकारी एजेंसी की ओर से जारी किए वीडियो में बताया गया है कि इस ड्रोन को कमांड सेंटर से नियंत्रित किया जाता है.

जानकारी के मुताबिक इसकी रफ्तार 160 किमी प्रति घंटा है और एक बार की बैटरी चार्ज करने पर यह 50 किमी तक जा सकता है.

समाचार एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस ने मैट्ट अल-तयर के हवाले से बताया है, "ये बस एक मॉडल नहीं है.''

इमेज कॉपीरइट Urban Aeronautics
Image caption इसराइल की कंपनी अरबन एयरोनॉटिक का सेना के लिए तैयार पैसेंजर ड्रोन

यूनिवर्सिटी ऑफ द वेस्ट ऑफ इंगलैंड के हवाई जहाज और विमान प्रणाली विभाग में सीनियर लेक्चरर ने बीबीसी से ड्रोन को सुरक्षित बनाने पर जोर दिया है

उन्होंने कहा, "जिस तरीके से ये काम करता है, उसके कारण यह सहज रूप से चलने में सक्षम रहा है. सिस्टम असफल न हो इसके लिए सावधानी की जरूरत है."

पिछले महीने इसराइल की कंपनी अरबन एयरोनॉटिक ने ऐलान किया था कि वह सेना के इस्तेमाल के लिए पैसैंजर ड्रोन तैयार कर रहा है. इसका इस्तेमाल 2020 तक किया जा सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे