क्या फ़ेसबुक का भविष्य है एलक जोंस ?

माइक्रोसाफ़्ट के सीइओ सत्या नाडेला ने क़रीब एक साल पहले दावा किया था कि बॉट नए ऐप होंगे.

बॉट इंटरनेट पर दिए गए काम को करने वाले ऐप होते हैं. इन्हें वेब रोबोट भी कहा जाता है.

आतंकवादियों को पहचानेगा फ़ेसबुक प्रोग्राम

इन बॉट में से अधिकांश प्रभावी हैं, बेकार या निष्क्रिय हैं. लेकिन इस हफ़्ते कनाडा के विक्टोरिया निवासी 14 साल के एलक जोंस ने सबकी आशाओं को जगा दिया है.

पिछले छह महीने से जोंस क्रिस्टोफ़र बॉट पर काम कर रहा है. यह एक ऐसा चैट बॉट है, जो छात्रों को उनके साप्ताहिक होमवर्क को खोजने में मदद करता है.

इसको सेट करने के लिए आपको बॉट के साथ केवल अपने स्कूल की टाइमिंग सेट करनी होगी. इसके बाद हर अध्याय के ख़त्म होने के बाद बॉट छात्रों को संदेश भेजकर पूछता है कि उन्हें होमवर्क मिला या नहीं.

ट्विटर पर डायरेक्ट मैसज अब चैट जैसा

इस बॉट के काम करने का तरीका जानने के लिए मैंने 30 साल की आयु में ख़ुद को बच्चे की तरह पेश किया. बॉट ने मुझसे पूछा, क्या आपके पास गणित का होमवर्क है.

मैंने जवाब दिया, हां.

मुझे क्या होमवर्क मिला है, यह पूछने से पहले बॉट ने कहा, '' आपको होमवर्क देकर आपके शिक्षक को आराम की ज़रूरत है.''

मेरा जवाब था, बीजगणित

ठीक है, मैं समझ गया.

इसके ज़रिए मैं अपने होमवर्क के साप्ताहिक कैलेंडर में बीजगणित को जोड़ सकता है और जब मुझे यह जानना हो कि मुझे क्या-क्या करना है तो मैं इसका पता लगा सकता हूं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

मैंने अपना होमवर्क पूरा कर क्रिस्टोफ़र बॉट को बताया, इस पर इस मशीन ने मुझे बधाई दी. इसके बाद यह काम उस लिस्ट से अपने आप निकल गया, जो कि मुझे करने थे.

इसकी सबसे अच्छी बात यह है कि छुट्टियों के दौरान यह आपको बिल्कुल परेशान नहीं करता.

इस तकनीक के बारे में मुझे जिस चीज ने सबसे अधिक प्रभावित किया, वह था कि पहली बार कोई चैटबॉट किसी समस्या के समाधान का सही तरीका था. जबकि अन्य चैटबॉट कुछ हद तक दूसरे के नकल थे.

जैसे सीएनएन के चैटबॉट को ले सकते हैं, जो कि ख़बरें देने के मामले में अपनी तरह के दूसरे बॉट में सबसे ख़राब है.

वहीं मौसम से जुड़ी जानकारियों के लिए पोंचो सबसे मशहूर चैटबॉट है, हालांकि इसका प्रचार ठीक से हुआ है और यह संवेदनशील भी है, लेकिन इसकी एक आदत यह है कि जब बारिश की छोटी बूंदें आपके सिर को भिगोने लगती हैं, तो यह कहता है कि बारिश होने वाली है.

इमेज कॉपीरइट Google

लेकिन क्रिस्टोफ़र बॉट की क्षमता यह है कि वह घर से चैट के जरिए काम करता है.

एलक कहते हैं कि वो नहीं चाहते हैं कि यह रोबोट की तरह आवाज करे. जैसे मेरे दोस्त बात करना चाहते हैं, मैं भी उसी तरह बात करुं. अगर आपके पास करने के लिए होमवर्क है, तो हर कोई आपसे कहता है कि जाओ होमवर्क करो.

ये बॉट एक ऐप (फ़ेसबुक मैसेंजर) के अंदर काम करता है, जिसे आपके दोस्त पहले से ही प्रयोग कर रहे हैं (हालांकि एक दिन स्नैपचैट इसके लिए अधिक उपयोगी हो सकता है.)

संक्षेप में हम यह कह सकते हैं कि चैटबॉट एक ऐसा उत्पाद है, जिस पर कंपनियां दांव लगा रही हैं.

चैटबॉट की सफलता को मापना अभी बहुत कठिन है. विज्ञापन पत्रिका ऐडएज़ का कहना है कि बॉट और उसे विकसित करने वाली कंपनी के विश्लेषण में बहुत अधिक त्रुटियां हैं, यह बड़े पैमाने पर इसलिए है कि यह तकनीक अभी अपने बाल्यकाल में है.

इस हफ़्ते के शुरू में ऐलक के बॉट को प्रोडक्ट हंट पर शेयर किया गया. इस वेबसाइट पर प्रयोग करने वालों के फीडबैक के आधार पर किसी तकनीक के बारे में जानकारी दी जाती है.

एलक किसी दूसरे वेब डेवलपर की ही तरह अपने बॉट को विकसित करना चाहते हैं, जिससे कामकाजी लोग भी उसका प्रयोग कर सकें. लेकिन वो कहते हैं कि फ़ेसबुक और उसके जैसे अन्य को अपने यूजर्स के लिए चैटबॉट की उपयोगिता के लिए और बहुत कुछ करने की ज़रूरत है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

फ़ेसबुक के संस्थापक मार्क ज़करबर्ग ने पिछले साल वेब डेवलपरों से कहा था कि लोग ऐप बना पाएं इसके लिए वो मैसेंजर को खोल रहे हैं.

लेकिन मैं कह सकता हूं कि वो 14 साल के इस बच्चे से यह उम्मीद नहीं कर सकते हैं कि वह यह दिखाए कि यह कैसे किया जाता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)