उपवास के बाद खाना डायबिटीज में फ़ायदेमंद

  • 25 फरवरी 2017
इमेज कॉपीरइट Thinkstock

अमरीकी शोधकर्ताओं का कहना है कि डायबिटीज से प्रभावित होने वाली पाचन ग्रंथि उपवास के बाद भोजन करने से ख़ुद को ठीक कर सकती है.

चूहों पर किए गए प्रयोगों से पता चला है कि इससे पाचन ग्रंथी में एक विशेष प्रकार की कोशिका तैयार होती है जिसे बीटा सेल कहते हैं.

ये कोशिका खून में चीनी की पड़ताल करती है और अगर चीनी की मात्रा ज्यादा हो तो उसे पचाने के लिए इंसुलिन छोड़ती है.

मेटाबॉलिज्म सुस्त पड़ा तो घेर लेगा मोटापा

डायबिटीज होने से पहले इलाज

इमेज कॉपीरइट Reuters

यह शोध सेल नाम के जर्नल में छपा है. इसमें कहा गया है कि उपवास के दौरान लिया जाने वाला भोजन शरीर को फिर से तरोताज़ा करता है.

विशेषज्ञों ने बताया कि शोध के परिणाम उत्साहजनक थे. इससे डायबिटीज के इलाज में मदद मिल सकती है.

लेकिन लोगों को कहा गया है कि वो बिना किसी मेडिकल सलाह के इसे नहीं आजमाएं.

पतले लोगों को शिकार बना रहा है डायबिटीज़

इससे पहले हुए एक शोध में पाया गया था कि इससे बुढ़ापे की गति कम की जा सकती है.

यूनिवर्सिटी ऑफ़ सदर्न कैलिफोर्निया के शोधकर्ता डॉक्टर वाल्टर लोगो का कहना है, "हमने शोध में पाया कि चूहे को बहुत देर भूखा रखने के बाद दोबारा से खिलाने पर उसकी पाचन ग्रंथी में सुधार हुआ है. पाचन ग्रंथी के वो हिस्से जो काम नहीं कर रहे थे, उन्होंने काम करना शुरू कर दिया."

चूहों पर किए गए इस प्रयोग में पाया गया कि ये टाइप 1 और टाइप 2 दोनों ही तरह की डायबिटीज में फायदेमंद है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)