ये कीड़ा खा सकता है प्लास्टिक कचरा

प्लास्टिक खाने वाला कीड़ा इमेज कॉपीरइट CÉSAR HERNÁNDEZ/CSIC

केम्ब्रिज यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों का कहना है मधुमक्खी का छत्ता खा लेने वाला एक कैटरपिलर प्लास्टिक भी खा सकता है.

प्लास्टिक खाने वाला ये कीड़ा प्रदूषण का कारगर इलाज हो सकता है.

प्रयोग में ये पता चला कि ये कीड़ा प्लास्टिक की केमिकल संरचना को उसी तरह से तोड़ देता है जैसे मधुमक्खी के छत्ते को वह पचा लेता है.

हर साल दुनिया भर में आठ करोड़ टन प्लास्टिक पॉलीथिन का उत्पादन किया जाता है.

इस प्लास्टिक का इस्तेमाल शॉपिंग बैग, फूड पैकेजिंग इंडस्ट्री में किया जाता है. लेकिन इनके पूरी तरह से गलने में सैकड़ों साल लग जाते हैं.

दिल्ली-एनसीआर पर फिर 'गैस-चेंबर' का खतरा?

नज़रिया: ऐसे बचाया जा सकेगा गंगा को?

इमेज कॉपीरइट CSIC COMMUNICATIONS DEPARTMENT

लेकिन गैलेरिया मेलोनेला नाम का ये कीड़ा प्लास्टिक बैग में घंटे के भीतर ही सुराख कर सकता है.

यूनिवर्सिटी ऑफ केम्ब्रिज के बायोकेमिस्ट डॉक्टर पाओलो बॉम्बेली इस शोध से जुड़े हुए हैं.

वे कहते हैं, "ये कैटरपिलर तो एक शुरुआत है. हमें ये समझने की जरूरत है कि वो इसे कैसे अंजाम देते हैं. हमें उम्मीद है कि प्लास्टिक कचरे की समस्या को कम करने के लिए कोई तकनीकी समाधान मुहैया कराया जा सकेगा."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे