कैसे स्तन कैंसर का पता लगाएगी ये ब्रा?

ब्रा इमेज कॉपीरइट HIGIA TECHNOLOGIES

मेक्सिको के एक स्टूडेंट ने एक ख़ास ब्रा बनाई है. छात्र का दावा है कि इससे ब्रेस्ट कैंसर का पता लगाया जा सकता है. इसे 'ईवा ब्रा' का नाम दिया गया है.

18 साल के जूलियन रिओस चांटु ने इस ब्रा को बनाया है. उनका कहना है कि यह ब्रा स्तन कैंसर के लक्षणों के बारे में पहले ही आगाह कर देगी.

मेक्सिको के राष्ट्रपति ने भी दी इसके लिए जूलियन को बधाई दी है.

इस ब्रा को जूलियन ने अपने तीन दोस्तों के साथ मिलकर बनाया है. इन तीनों ने साथ मिलकर एक कंपनी भी बनाई है. हालांकि अभी पूरी तरह से इस ब्रा का टेस्ट होना बाक़ी है.

'मेरी ब्रा से आपको क्या प्रॉब्लम है?'

इन तीनों छात्रों ने इसकी जांच के लिए काफ़ी पैसे जुटा लिए हैं. इस हफ़्ते इन्हें ग्लोबल स्टूडेंट आंत्रप्रन्योर (युवा उद्योगपति) अवॉर्ड मिला है. इनकी कंपनी हिजा टेक्नोलॉजी ने दुनिया भर के कई युवा उपक्रमियों को पीछे छोड़ते हुए 20 हज़ार डॉलर का इनाम पाया है.

इमेज कॉपीरइट Twitter

यह ब्रा कैंसर का पता कैसे करेगी?

कैंसर युक्त ट्यूमर में रक्त प्रवाह बढ़ने के कारण त्वचा का तापमान बढ़ जाता है. 'ईवा ब्रा' का बायोसेंसर तापमान मापेगा और फिर यह एक ऐप से जुड़ेगा. इसमें जो भी बदलाव होगा उसका अलर्ट 'ईवा ब्रा' पहनने वालों के पास जाएगा.

ब्लॉग: 'दरअसल आपकी ब्रा की स्ट्रिप दिख रही है'

चर्च में औरतों ने क्यों किया 'ब्रा प्रोटेस्ट'?

एक हफ़्ते में कम से कम इस ब्रा को 60 से 90 मिनट तक पहनना होगा, तभी यह बिल्कुल सही अलर्ट भेजेगा.

पिछले साल एक इंटरव्यू में जूलियन ने कहा था कि ब्रा के भीतर सेंसर होने का मतलब हुआ कि हर वक़्त स्तनों के समान स्थिति में होने को मापा जाएगा.

इमेज कॉपीरइट WORLDWIDE BREAST CANCER

क्या वाकई कैंसर-डिटेक्टिंग ब्रा काम करती है?

अभी यह शुरुआती अवस्था में है. अभी तक इसका पूरी तरह से परीक्षण नहीं हुआ है. मेडिकल साइंस से अभी इसकी पुष्टि होनी बाक़ी है.

पुष्टि के बाद ही कैंसर विशेषज्ञ इस ब्रा के इस्तेमाल की सिफारिश करेंगे. ब्रिटेन में कैंसर रिसर्च के अना पेर्मन ने बीबीसी से कहा, ''हम लोग जानते हैं कि ट्यूमर में अक्सर रक्त वाहिकाएं अव्यवस्थित होती हैं, लेकिन ज़रूरी नहीं है कि रक्त प्रवाह का बढ़ना कैंसर होने का लक्षण है.''

उन्होंने कहा, ''अभी इस ब्रा को लेकर कोई ठोस सबूत नहीं है कि यह ट्यूमर का पता लगाने में सक्षम है. निश्चित तौर पर यह कोई बढ़िया आइडिया नहीं है कि बिना वैज्ञानिक जांच के महिलाएं इस ब्रा का इस्तेमाल करें. यह बढ़िया है कि जूलियन जैसे युवा लोग कैंसर को लेकर तकनीक के बारे में सोच रहे हैं.''

उन्होंने कहा कि इस ब्रा को अभी मेडिकल साइंस की कसौटी पर खरा उतरना बाक़ी है. अना ने कहा कि इस तरह की खोज से मरीज़ों को फ़ायदा होगा.

इमेज कॉपीरइट Twitter

ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण क्या हैं?

  • गांठ विकसित होना
  • ब्रेस्ट के आकार और शेप में बदलाव को महूसस करना
  • निपल से तरल पदार्थ का निकलना (ब्रेस्ट मिल्क नहीं)
  • सीने में दर्द का होना

अना ने कहा, ''शुरुआती अवस्था में ही ब्रेस्ट कैंसर के पता चलने से बीमारी ठीक होने की उम्मीद बढ़ जाती है. ऐसे में यह जानना ज़रूरी हो जाता है कि स्थिति सामान्य है या नहीं. यदि कुछ असामान्य लगे तो आप सतर्क हो सकते हैं.''

जूलियन को यह आइडिया कहां से मिला?

जूलियन जब 13 साल के थे तो उन्हें इस प्रोजेक्ट का ख्याल आया था. जूलियन की मां की मौत ब्रेस्ट कैंसर से हुई था. यदि शुरुआती अवस्था में ही इस कैंसर के बारे में पता चल जाता तो वह बच सकती थीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे