कुत्ते क्यों होते हैं इंसानों के सबसे अच्छे दोस्त?

इमेज कॉपीरइट Monty Sloan

कुत्ते भरोसेमंद होते हैं, ये तो हम आप जानते ही हैं. लेकिन नए अध्ययन के मुताबिक वे हमारे सबसे अच्छे दोस्त भी होते हैं.

अमरीकी वैज्ञानिकों ने पता लगाया है कि कुत्तों में दोस्ती करने का विशेष अनुवांशिक गुण मौजूद होता है.

कुत्तों का विकास भेड़ियों से ही हुआ है. रिसर्च में पाया गया कि हजारों साल की विकास प्रक्रिया के बाद कुत्ते झुंड में रहने लगे. इसी वजह से वे इंसानों के भी ज़्यादा क़रीब आने लगे.

कुत्ते समझते हैं इंसान की भावनाएं

कुत्ते से बच्चों जैसा लगाव क्यों?

प्रिंसटन यूनिवर्सिटी की डॉ. ब्रिजेट वोनहोल्ट बताती हैं कि उन्होंने इस रिसर्च के दौरान कुत्तों और भेड़ियों में अनुवांशिक विभिन्नता पाई. जबकि बिल्लियों व अन्य पालतू जानवरों में दोस्ती करने वाली ख़ूबी एक समान देखने को मिली.

इमेज कॉपीरइट MONTY SLOAN

शोधकर्ताओं ने पालतों कुत्तों और भेड़ियों के अलग-अलग व्यवहार का परीक्षण किया, जिसमें उनकी समस्या हल करने की क्षमता और लोगों के साथ घुलने-मिलने वाले व्यवहार को जांचा गया.

शोधकर्ताओं ने पाया कि किसी समस्या को हल करने के मामले में भेड़िए और कुत्ते एक समान क्षमता रखते हैं लेकिन किसी के साथ दोस्ती करने के मामले में कुत्ते ज़्यादा तेज़ साबित हुए.

हज़ारों साल पुराना साथ

कुत्ते आसानी से किसी अपरिचित के पास चले जाते हैं जबकि भेड़िए इस मामले में अलग ही रहते हैं.

इस शोध की सह-शोधकर्ता और नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्थ की डॉ. इलेन ओसट्रेंडर ने कहा कि इस शोध के जरिए इंसान के व्यवहार में आने वाली समस्याओं को समझने में भी मदद मिल सकेगी.

इमेज कॉपीरइट DANIEL STAHLER/NPS

20,000 से 40,000 साल पहले भेड़ियों को कुत्तों के रूप में पालने की प्रक्रिया शुरू हुई थी. यह रिसर्च ये भी बताती है कि किस तरह वक़्त के साथ भेड़ियों के अंदर दोस्ती के गुण पैदा होते गए और आज वे कुत्तों के रूप में इंसानों के सबसे अच्छे दोस्त बन गए हैं. यह अध्ययन मूल रूप में साइंस एडवांसेज जर्नल में प्रकाशित हुआ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)