कसरत नहीं है शराब का इलाज

Image caption इंग्लैंड में बीस प्रतिशत लोगों के बारे में पता चला कि वो तय सीमा से दोगुनी शराब पीते हैं.

एक सर्वेक्षण का कहना है कि रात का नशा उतारने में कसरत शायद कामयाब हो जाए, लेकिन जमकर शराब पीने से जो नुकसान होता है उसको कसरत से नहीं सुधारा जा सकता.

ब्रितानी सरकार के स्वास्थ्य विभाग की ओर से हुए इस सर्वेक्षण में पाया गया कि इंग्लैंड में बहुत से लोग जमकर शराब पीने के बाद उसकी भरपाई करने के लिए कसरत करते हैं.

इसमें ये भी पाया गया कि बीस प्रतिशत लोग राष्ट्रीय स्वास्थ्य विभाग की तरफ़ से तय सीमा से कहीं ज़्यादा पीते है.

इस सीमा के अनुसार एक दिन में एक महिला वाईन के दो छोटे ग्लास पी सकती है, वहीं पुरूष इससे एक ग्लास ज़्यादा पी सकते हैं.

सर्वे में पाया गया कि अगर कसरत के ज़रिए जमकर पसीना बहाया जाए तो शरीर में ज़्यादा पीने से जो नुकसान हुआ है उसकी भरपाई हो जाएगी.

सरकार ने फ़िलहाल ‘अपनी क्षमता पहचानें’ अभियान चला रखा है और लोगों तक ये संदेश पहुंचा रही है कि कसरत से हो सकता है कि आप बेहतर महसूस करें लेकिन ज़्यादा शराब से जो नुकसान होता है वो नहीं बदलेगा.

कई शोध इन दिनों कह रहे हैं कि शराब, कई बार ज़्यादा मात्रा में भी, दिल के लिए बेहतर है लेकिन ये नहीं भूलना चाहिए कि जिगर को इससे भारी नुकसान पहुंच सकता है.

संबंधित समाचार