ज़्यादा कसरत करने से गठिया का ख़तरा

गठिया
Image caption स्त्रियों में गठिया एक आम बीमारी है

एक शोध के मुताबिक उन अधेड़ों में गठिया होने का ख़तरा रहता है जो ज़रूरत से ज़्यादा कसरत करते हैं.

इस अध्ययन में 45 से 55 वर्ष की उम्र के 200 से ज़्यादा सामान्य वज़न वाले लोगों को शामिल किया गया था. शोध के बाद पाया गया कि जो लोग ज़्यादा कसरत करते हैं उनके घुटनों में चोट पहुँचने की संभावना रहती है.

गठिया का रोग बड़ा कष्टप्रद माना जाता है और इसमें शरीर की प्रतिरोधी प्रणाली जोड़ों पर हमला करती है जिसकी वजह से उनमें दर्द, सूजन और कड़ापन आ जाता है.

एक अनुमान के अनुसार विश्वभर में लाखों लोग गठिया से पीड़ित हैं. केवल ब्रिटेन में ही आठ लाख लोग इससे पीड़ित बताए जाते हैं.

आम बीमारी

गठिया की बीमारी स्त्रियों में आम है. उम्र और वज़न बढ़ने के साथ उनमें इस बीमारी का ख़तरा बढ़ जाता है.

कैलिफ़ोर्निया विश्वविद्यालय में हुए इस शोध के प्रमुख डॉक्टर क्रिस्टोफ़ स्टेहलिंग ने बताया, "हमारे आंकड़े बताते हैं कि जो लोग ज़्यादा कसरत करते हैं उनके घुटनों में परेशानी होने की आशंका ज़्यादा रहती है, जिससे उनमें गठिया का ख़तरा भी ज़्यादा रहता है."

ज़्यादा कसरत की श्रेणी में दौड़ना, कूदना जैसी गतिविधियाँ शामिल है जबकि तैराकी, साइकलिंग को कम गतिविधि वाले कसरत में रखा गया है.

हालांकि 'चैरिटी अर्थराइटिस केयर' संस्था का कहना है कि लोगों में यह ग़लतफ़हमी है कि यदि वे गठिया से पीड़ित हैं तो उन्हें कसरत करना ही नहीं चाहिए, जबकि यदि सही रूप में कसरत किया जाए तो इससे दर्द कम होता है और घुटने को मजबूती मिलती है.

संबंधित समाचार