अमरीका उत्सर्जन को नियंत्रित करेगा

कोपनहैगन जलवायु सम्मेलन 2009

अमरीकी सरकार ने घोषणा की है कि ग्रीन हाउस गैसें स्वास्थ्य के लिए ख़तरा है, इससे राष्ट्रपति ओबामा को अमरीकी उत्सर्जन में कटौती का अधिकार मिलने का रास्ता साफ़ हो गया है.

अमरीका की पर्यावरण सुरक्षा एजेंसी की इस घोषणा को कोपेनहेगेन सम्मेलन में भाग लेने के लिए राष्ट्रपति बराक ओबामा की यात्रा के संदर्भ में काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

इससे राष्ट्रपति ओबामा के लिए सीनेट की अनुमति के बिना भी कार्बन उत्सर्जन में कटौती करने की घोषणा का रास्ता साफ़ हो गया है.

इसकी घोषणा करते हुए अमरीकी पर्यावरण सुरक्षा एजेंसी की प्रमुख अधिकारी लीज़ा जैकसन ने कहा कि इससे अर्थव्यस्था को नुकसान पहुंचाए बगैर पर्यावरण को बचाने में मदद मिलेगी.

उनका कहना था,'' ये तर्कसंगत हैं और बहुत ही सामान्य तरीक़े हैं जो हमें बताते हैं कि वायुमंडल को साफ़ रखने के लिए क्या करना चाहिए. मसलन अच्छे स्वास्थ्य के लिए उत्सर्जन में कटौती, अच्छी अर्थव्यवस्था के लिए बेहतर तकनीक और बेहतर भविष्य के लिए पर्यावरण को बचाना होगा.''

ओबामा को अधिकार

कार्बन उत्सर्जन पर प्रतिबंध लगाने वाला विधेयक इस वक़्त अमरीकी सीनेट में लटका पड़ा है जहां उसका कड़ा विरोध हो रहा है.

सीनेट के कुछ सदस्यों का कहना है कि इसकी वजह से अमरीका में नौकरियों की कमी हो जाएगी और ईंधन की क़ीमतों में बढ़ोत्तरी हो सकती है.

और कुछ तो यह स्वीकार ही नहीं करते हैं कि जलवायु परिवर्तन स्वाभाविक है या मानव निर्मित.

हालांकि ये विधेयक जून महीने में बहुत ही कम अंतर से अमरीकी प्रतिनिधि सभा में पारित हो गया था लेकिन सीनेट में अब भी ये पारित होने का इंतज़ार कर रहा है.

वैसे अगर ये विधेयक पारित हो भी जाता है तो भी इसके क़ानून बनने में अभी महीनों लग जाएंगे.

लेकिन पर्यावरण एजेंसी की इस घोषणा से ऐसी संभावना बन गई है कि अगर इसमें देर होती है या विधेयक सीनेट में पास नहीं हो पाता है तो भी सरकार कुछ नए नियम बना सकती है.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है