मलेरिया का टीका 'तीन साल बाद'

बिल गेट्स
Image caption बिल गेट्स फ़ाउंडेशन मलेरिया उन्मूलन के लिए कई अरब डॉलर ख़र्च कर चुका है

माइक्रोसॉफ़्ट के संस्थापक बिल गेट्स ने बीबीसी से कहा है कि मलेरिया के लिए टीका तीन साल बाद आ सकता है.

बिल गेट्स मलेरिया के उन्मूलन के लिए काम करने वाले अग्रणी लोगों में से रहे हैं.

मलेरिया से हर साल लाखों लोगों की जान चली जाती है, जिसमें बड़ी संख्या में बच्चे होते हैं.

बिल गेट्स फ़ाउंडेशन ने स्थापना के बाद से मलेरिया से निबटने के लिए अरबों डॉलर खर्च किए हैं.

वे मानते हैं कि स्मॉलपॉक्स यानी छोटी माता की तरह मलेरिया को भी ख़त्म किया जा सकता है.

बीबीसी के एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा, "हमने एक टीका विकसित कर लिया है जिसका परीक्षण अंतिम दौर में है...जिसे हम तीसरा दौर कहत है. आंशिक रुप से प्रभावी टीका तीन साल के भीतर उपलब्ध हो जाएगा. लेकिन पूरी तरह से प्रभावी टीका विकसित होने में पाँच से दस साल का समय लग सकता है."

लेकिन दुनिया के सबसे धनी इस व्यक्ति को डर है कि जलवायु परिवर्तन से लड़ने के लिए अमीर देश अपनी विदेशी सहायता में कटौती कर सकते हैं.

उन्होंने कहा है कि वे ये सुनिश्चित करना चाहते हैं कि एड्स, दवा या टीका विकसित करने के रास्ते में धन आड़े न आए.

बिल गेट्स ने कहा, "सहायता में कटौती एक भूल होगी क्योंकि इससे न केवल जिंदगियाँ बचती हैं बल्कि इससे लोगों के स्वास्थ्य में भी सुधार होता है और इसकी वजह से जनसंख्या में वृद्धि रुकती है जो वैश्विक तापमान बढ़ने की एक मुख्य वजह है."

उनका कहना है, "अगर हमारी जनसंख्या तेज़ी से नहीं बढ़ेगी तो हम ज़्यादा टिकाउ जीवन पद्धति अपना सकते हैं जिससे कि पर्यावरण की समस्याओं से निपटा जा सकता है."

उन्होंने कहा, "जलवायु परिवर्तन महत्वपूर्ण मुद्दा है. उसके लिए धन दिया जाना चाहिए लेकिन यह स्वास्थ्य के बजट में कटौती करके नहीं दिया जाना चाहिए."

संबंधित समाचार