स्तन कैंसर में फ़ायदेमंद मछली का तेल

स्तन कैंसर
Image caption मझली के तेल में पाए जाने वाले ओमेगा-3 फ़ैटी ऐसिड स्तन कैंसर के ख़तरे को कम कर सकता है.

एक अमरीकी पत्रिका में छपी रिपोर्ट के मुताबिक मछली का तेल स्तन कैंसर के ख़तरे को 32 फ़ीसदी तक कम कर सकता है,

ये रिपोर्ट ‘कैंसर एपिडेमियोलॉजी, बॉयोमार्कर्स ऐंड प्रिवेंशन’ नामक पत्रिका में प्रकाशित हुई है.

अमरीका के ये शोधकर्ता छह वर्ष तक 35 हज़ार से अधिक महिलाओं की निगरानी के बाद इस नतीजे पर पहुंचे हैं.

मछली के तेल में ‘ओमेगा-3’ नाम के ‘फ़ैटी ऐसिड’ की अधिकता होती है. ‘ओमेगा-3’ पहले से ही स्वास्थ्य के लिए फ़ायदेमंद होने के लिए प्रसिद्ध है. इसे पहले भी जोड़ों के दर्द, बच्चों के सीखने की क्षमता और मनोरोग विकार में कमी लाने से जोड़ा जा चुका है.

इस नए अध्ययन ने पहली बार मछली के तेल और कैंसर की सबसे आम क़िस्म के बीच संबंध स्थापित किया है.

बीबीसी संवाददाता ऐरिक कमारा के अनुसार पहले भी ‘ओमेगा-3’ के कैंसर के इलाज में सहायक होने को लेकर हुए शोध हुए हैं लेकिन वे सभी अनिर्णायक साबित हुए हैं.

हांलाकि इस अध्ययन से जुड़े वैज्ञानिकों ने भी चेतावनी दी है कि ‘ओमेगा-3’ नाम के एसिड और कैंसर में संबंध होने का ये पुख़्ता निष्कर्ष नहीं है.

बीबीसी संवाददाता ऐरिक कमारा के मुताबिक शोध कैंसर के ख़तरे में कमी की ओर इशारा तो करता है लेकिन अभी इस रिसर्च की स्वतंत्र स्रोतों से पुष्टि किया जाना बाक़ी है.

संबंधित समाचार