चीन में गूगल के लाइसेंस का नवीनीकरण

गूगल-चीन
Image caption गूगल और चीन के बीच तनातनी में अमरीकी प्रशासन को भी दखलंदाज़ी करनी पड़ी थी

इंटरनेट कंपनी गूगल के साथ चले आ रहे अपने लंबे विवाद को ख़त्म करते हुए चीन की सरकार ने गूगल के लाइसेंस का नवीनीकरण कर दिया है.

गूगल ने नवीनीकृत लाइसेंस के विवरण नहीं दिए हैं.

जब गूगल ने चीनी उपभोक्ताओं के लिए हांगकांग से अपनी सेवाएँ देनी शुरु कीं तब ये अटकलें लगाईं जा रहीं थीं कि अब शायद चीन सरकार गूगल का लाइसेंस रद्द ही कर देगी.

लेकिन पिछले महीने चीन के प्रति समझौतावादी रवैया अपनाते हुए गूगल ने कहा था कि वह चीन के उपभोक्ताओं को हांगकांग रिडाइरेक्ट नहीं करेगा.

गूगल ने कहा था कि वह चीन के उपभोक्ताओं को एक 'लैंडिंग पेज' पर भेजेगा जहाँ से वे हांगकांग की साइट पर जा सकेंगे.

गूगल के वकील डेविड ड्रमंड ने ईमेल से भेजे गए अपने बयान में कहा है, "हमें ख़ुशी है कि चीन सरकार ने इंटरनेट कंटेट प्रोवाइडर (आईसीपी) लाइसेंस का नवीनीकरण कर दिया है, अब हम चीन में वेब सर्च और अपने दूसरे उत्पाद लोगों के लिए उपलब्ध करवा सकेंगे."

इस ख़बर के बाद गूगल के शेयरों में 2.8 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है.

गुरुवार को ही गूगल के प्रमुख एरिक शमिट ने कहा था कि वे उम्मीद कर रहे हैं कि चीन सरकार लाइसेंस का नवीनीकरण देगी.

तनातनी का इतिहास

गूगल और चीनी अधिकारियों के बीच तनातनी का पुराना इतिहास रहा है लेकिन गूगल बिना लाइसेंस के चीन में काम नहीं कर सकता.

शमिट ने कहा था, "चीन में हमारा काम पूरी तरह से चीन सरकार के भरोसे है."

इसी साल जनवरी में गूगल ने कहा था कि वह चीन में अपना कामकाज समेट सकता है. उसका आरोप था कि चीन में गूगल पर साइबर हमले हो रहे हैं.

गूगल का कहना था कि चीन में कई मानवाधिकार कार्यकर्ताओं, गूगल के और कई अमरीकी कंपनियों के ईमेल एकाउंट के साथ छेड़छाड़ की जा रही थी.

इसके बाद अमरीकी सरकार ने भी एक बयान जारी करके कहा था कि वह चीन सरकार के रवैये से 'निराश' हुई है.

वैसे यह तनाव वर्ष 2009 से ही चल रहे थे जब चीन ने यू ट्यूब पर रोक लगाने के अलावा सभी नए कंप्यूटरों में फ़िल्टरिंग सॉफ़्टवेयर लगाना अनिवार्य कर दिया था.

विवाद की जड़ बरक़रार

गूगल के लिए चीन में लाइसेंस का नवीनीकरण महत्वपूर्ण है क्योंकि चीन में इंटरनेट के उपभोक्ता कम होने के बावजूद वहाँ किसी भी देश से ज़्यादा इंटरनेट के उपभोक्ता हैं.

इसकी वजह से गूगल को व्यावसायिक नुक़सान हो रहा था.

विश्लेषकों ने लाइसेंस के नवीनीकरण का स्वागत तो किया है लेकिन चेतावनी दी है कि गूगल और चीन सरकार में मौलिक मतभेद अभी भी क़ायम है.

बीजिंग में एक व्यावसायिक सलाहकार कंपनी के टेड डीन कहते हैं, "यह चीनी उपभोक्ताओं और चीन के इंटरनेट उद्योग के लिए अच्छी ख़बर है कि गूगल चाहे जिस भी रूप में हो, चीन में उपलब्ध तो है."

वे कहते हैं, "लेकिन जिन वजहों से गूगल ने चीन में अपना सर्च पेज बंद किया था वे कारण तो अब भी मौजूद हैं."

एक निवेश कंपनी के इलिनॉर लेउंग कहते हैं, "इससे चीन में गूगल की स्थिति में कोई बदलाव नहीं होगा. हांगकांग की साइट पर रि़डाइरेक्ट होने का सिलसिला जारी है इसका मतलब है कि यह की समस्या बरक़रार है."

आने वाले दिन बताएँगे कि लाइसेंस नवीनीकरण से गूगल के लिए चीन में क्या कुछ बदला है.

संबंधित समाचार