दुनिया पर मंडरा रहा डेंगू का ख़तरा

डेंगू
Image caption डेंगू से बचने के उपाय बड़े पैमाने पर जारी हैं

अंतरराष्ट्रीय स्वास्थय संगठन(डब्लूएचओ) की एक रिपोर्ट के अनुसार पिछले एक दशक के दौरान दुनिया भर में डेंगू का मामले दुगने से भी ज़्यादा हो गए हैं.

डब्लूएचओ के अनुसार डेंगू के ये बढ़ते मामले दुनिया भर में लोगों के स्वास्थ्य के लिए एक बड़ा खतरा बन चुके हैं.

संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी दी है सभी देश अगर इसके बचाव में कमर कसकर तैयार नहीं होंगे तो स्थिति और बिगड़ सकती है.

दुनिया में हर पांच में से एक व्यक्ति पर डेंगू का खतरा मंडरा रहा है. इनमें से ज़्यादातर लोग एशिया-प्रशांत क्षेत्र से हैं.

डब्लूएचओ का कहना है कि डेंगू को लेकर इस साल के आंकड़े ही सचेत होने के लिए काफ़ी हैं.

दुगने मामले

डेंगू एक गंभीर बीमारी है जिसके लक्षण फ्लू और बुख़ार से मिलते-जुलते हैं. ये एडिस मच्छरों के काटने से फैलता है और जानलेवा साबित हो सकता है.

डब्लूएचओ का कहना है कि दुनिया के कई नए इलाकों में डेंगू के मामले सामने आ रहे हैं.

डब्लूएचओ में एशिया प्रशांत के क्षेत्रीय निदेशक शिन यंग सू का कहना है, ''डेंगू की रोकथाम के लिए राष्ट्रीय स्तर पर संसाधन जुटाने की ज़रूरत है. साथ ही वैश्विक स्तर पर इसे स्वास्थ्य के लिए एक चुनौती माना जाना चाहिए.''

डेंगू के इन बढ़ते मामलों की कई वजह हैं जैसे बढ़ता तापमान और बारिश में बढ़ोत्तरी.

डब्लूएचओ के मुताबिक बढ़ती जनसंख्या और डेंगू के वायरस से संक्रमित लोगों का अलग-अलग देशों की यात्राएं करना भी इसके फैलने का एक कारण हो सकता है.

स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि मच्छरों के पलने की जगहों को खत्म करने और कूड़े के ढेरों को साफ़ करना इसकी रोकथाम के लिए बेहद ज़रूरी है.

संबंधित समाचार