मोटे हो रहे हैं ब्रितानी

ऑक्सफर्ड विश्वविद्यालय के एक शोध में पता चला है कि औसत ब्रितानी का वज़न 15 वर्षों में खासा बढ़ा है.

वैज्ञानिकों ने पाया कि 1986 की तुलना में वर्ष 2000 में ब्रितानी पुरुषों का औसत वज़न लगभग 7.7 किलोग्राम तक बढ़ गया.

महिलाएँ भी इससे अछूती नहीं रहीं और उनका औसत वज़न 5.4 किलोग्राम तक बढ़ा.

वैज्ञानिकों का कहना है कि इसकी वजह ज्यादा कैलोरी का सेवन और कम व्यायाम है.

ब्रिटिश हार्ट फाउंडेशन ने ब्रितानी लोगों के खाने के तौर तरीकों और उनके वज़न का विश्लेषण किया.

अध्ययन के अनुसार खानपान में बढ़ोत्तरी के लिहाज से औसत वज़न में 4.7 किलोग्राम की वृद्धि चाहिए थी लेकिन जब आंकडे जुटाए गए तो पाया कि वृद्धि इससे कहीं अधिक थी.

अध्ययन में पाया गया कि पिछले 20 वर्षों में लोगों के वज़न में लगातार वृद्धि हो रही है.

ऑक्सफर्ड विश्वविद्यालय के वरिष्ठ अनुसंधानकर्ता डॉक्टर पीटर स्कारबोरो का कहना है,''लोगों की दिनचर्या से कसरत गायब होती जा रही है.''

वैज्ञानिकों का कहना है कि अधिक वज़न वाले लोगों में हृदय रोग की अधिक संभावना रहती है.

यहाँ तक कि संयुक्त राष्ट्र ने दुनिया भर में मोटापा कम करने की मुहिम शुरू की है.

संबंधित समाचार