विकीपीडिया ने पूरे किए दस साल

आपको किसी विषय पर कोई जानकारी चाहिए हो तो अकसर लोग इंटरनेट पर सीधे विकीपीडिया पर जाते हैं.ऑनलाइन इनसाइक्लोपीडिया और लोकप्रिय वेबसाइट विकीपीडिया शनिवार को अपनी 10वीं वर्षगाँठ मना रही है.

जिन वेबसाइटों पर लोग सबसे ज़्यादा जाना पसंद करते हैं, उन साइटों में विकीपीडिया का पाँचवा स्थान है.

दस साल पहले विकीपीडिया को जब शुरु किया गया था तो इसे लेकर कुछ ख़ास उत्साह नहीं था.लेकिन आज इसमें दो करोड़ 60 लाख से ज़्यादा एंट्री है और लाखों लोग विश्व भर में इस वेबसाइट का इस्तेमाल करते हैं.

ये वेबसाइट मुख्यत चैरिटी की तरह चलती जहाँ लोग स्वेच्छा से इसमें जानकारियाँ लिखते और जोड़ते रहते हैं. इसे चलाने वाले कुल 50 लोगों की ही टीम है.

विकीपीडिया के संस्थापक जिमी वेल्स कहते हैं, “कई आलोचकों का कहना है कि वेबसाइट पर ग़लत जानकारियाँ हो सकती हैं, इसमें कई बार भारी-भरकम ग़लतियाँ रही हैं लेकिन वैज्ञानिक पद्धतियाँ दर्शाती हैं कि विकीपीडिया में लिखी जानकारियाँ उतनी ही सही होती हैं जितनी कि इनसाइक्लोपीडिया ब्रिटेनिका में.”

उन्होंने कहा कि विकीपीडिया को नए पीढ़ी के ऐसे लोगों की ज़रुरत है जो वेबसाइट में सहयोग दे सकें, ख़ासकर महिलाओं की.

दानदाताओं से चलती है साइट

विकीपीडिया अभी एक ऐसी संस्था के तौर पर काम करता है जिसमें मुनाफ़ा नहीं होता और वेबसाइट को इस्तेमाल करने वाले लोग पैसा दान देते हैं.

जिमी वेल्स नहीं चाहते कि ग़ैर-मुनाफ़ा कमाने वाले कंपनी के इस ढाँचे को बदला जाए.

विकीपीडिया के संस्थापक कहते हैं, “हमारे पास बहुत पैसा नहीं है. हम ऐसी वेबसाइट चला रहे हैं जहाँ 40 करोड़ से ज़्यादा लोग आते हैं और पैसे हैं केवल दो करोड़ डॉलर. इतने कम पैसे के बावजूद हम बहुत सारे लोगों को प्रभावित कर रहे हैं. दानदातओं की मदद से चलने वाली पद्धति ठीक-ठाक चल रही है, हालांकि पैसा न होने की वजह से हम बहुत कुछ नहीं कर पाते.”

पर जिमी वेल्स ज़्यादा पैसा लाने के चक्कर में विकीपीडिया को व्यावसायिक नहीं करना चाहते. उन्हें लगता है कि व्यावसायिक कंपनी के अपने दवाब होते हैं.

ग़ैर-मुनाफ़ा संस्था रहते हुए विकीपीडिया पर विज्ञापन शुरु करने का भी अभी उनका कोई इरादा नहीं है.

जिमी वेल्स कहते हैं कि बहुत से लोग विकीपीडिया और विकीलीक्स को लेकर भ्रमित हो जाते हैं जबकि दोनों अलग-अलग वेबसाइटें हैं.

विकीपीडिया की योजना अब विकासशील देशों में विस्तार करने की है. जल्द ही विकीपीडिया भारत में अपना कार्यालय खोलने वाला है.वेबसाइट के करीब 40 करोड़ यूज़र हैं और 2015 तक ये संख्या एक अरब तक ले जाने का लक्ष्य है.

संबंधित समाचार