सौ डॉलर का टैबलेट कंप्यूटर

Image caption इस लैपटॉप को टैबलेट का रूप दिया जा सकता है

अमरीका के शहर लास वेगस में हाल ही में संपन्न कंज़्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स शो में सबकी निगाहें टचस्क्रीन पोर्टेबल कंप्यूटरों या टैबलेट कंप्यूटरों पर थीं. शो में रखे गए सौ से ज़्यादा टैबलेट कंप्यूटरों में से एक 'वन लैपटॉप पर चाइल्ड'(ओएलपीसी) परियोजना का भी था.

ओएलपीसी का टैबलेट कंप्यूटर दरअसल एक हाइब्रिड कंप्यूटर है जिसे टैबलेट कंप्यूटर के रूप में बदला जा सकता है.

इस हाइब्रिड कंप्यूटर XO-1.75 के किसी भी लैपटॉप कंप्यूटर की तरह दो हिस्से हैं. लेकिन बाक़ी लैपटॉप कंप्यूटरों से इसकी समानता यहीं ख़त्म हो जाती है.

हाइब्रिड कंप्यूटर XO-1.75 का मदरबोर्ड यानि सारे सर्किट, चिप आदि स्क्रीन के पीछे के हिस्से में है. जबकि दूसरे हिस्से में कीबोर्ड के पीछे बैटरी को सेट किया गया है.

कंप्यूटर का स्क्रीन वाला यह हिस्सा घुमा कर कीबोर्ड पर फ़िट किया जा सकता है. ऐसा करने पर कंप्यूटर न सिर्फ़ टैबलेट कंप्यूटर जैसा दिखने लगता है, बल्कि उसी प्रकार काम भी करता है.

इस कंप्यूटर की क़ीमत 165 डॉलर रखी गई है. इस साल जून-जुलाई से इसे दुनिया भर में बेचा जाएगा.

कम पावर

ओएलपीसी के मुख्य तकनीकी अधिकारी एड मैकनिरनी ने बीबीसी को बताया कि लैपटॉप की नई प्रौद्योगिकी में एक बड़ी चुनौती बिजली की खपत कम करने की होती है, और XO-1.75 की बात करें तो इस कसौटी पर वह खरा उतरता है.

मैकनिरनी के अनुसार ओएलपीसी के नए हाइब्रिड कंप्यूटर में पहले के पाँच वॉट की जगह मात्र दो वॉट बिजली से काम चल जाता है.

एक बार पूरी तरह बैटरी चार्ज हो जाए तो ओएलपीसी का XO-1.75 सात से आठ घंटे तक बिना बिजली के चल सकता है.

ओएलपीसी की योजना 2012 में लैपटॉप से अलग एक स्वतंत्र टैबलेट कंप्यूटर जारी करने की है, जिसकी बैटरी एक बार चार्ज करने पर 10 से 12 घंटे तक चलेगी.

100 डॉलर का टैबलेट

ओएलपीसी के मुख्य तकनीकी अधिकारी एड मैकनिरनी के अनुसार उनका टैबलेट कंप्यूटर इसलिए ख़ास होगा क्योंकि उसमें लैपटॉप से होने वाले सारे कार्यों की गुंजाइश होगी. उसे XO-3 के नाम से जाना जाएगा. उसके स्क्रीन का आकार एप्पल के लोकप्रिय टैबलेट कंप्यूटर आईपैड के समान ही यानि 25 सेंटीमीटर या 9.7 इंच होगा.

चूंकि ओएलपीसी के कंप्यूटर बच्चों, ख़ास कर विकासशील देशों के बच्चों के लिए होते हैं, इसलिए OX-3 की मज़बूती और टिकाऊपन पर विशेष ध्यान दिया जाएगा.

मैकनिरनी ने इस बारे में कहा, "हमारे टैबलेट कंप्यूटर का स्क्रीन टूटने वाला नहीं होगा, उसके पुर्ज़े लंबे समय तक ख़राब नहीं होगे. उसके पुर्ज़ों और अन्य हिस्सों को पूरी तरह सील किया जा सकेगा ताकि धूल, रेत या पानी उसे नुक़सान नहीं पहुँचा सके."

ओएलपीसी के टैबलेट कंप्यूटर के बारे में एक और उल्लेखनीय बात ये है कि उसकी क़ीमत मात्र 100 डॉलर रखी जाएगी.

ओएलपीसी परियोजना के तहत इससे पहले 199 डॉलर क़ीमत के कंप्यूटर बनाए गए थे. दुनिया भर में ऐसे 20 लाख कंप्यूटर बेचे गए.

संबंधित समाचार