मोबाइल और 'हाथ की सफ़ाई'

 शुक्रवार, 14 अक्तूबर, 2011 को 16:49 IST तक के समाचार
mobile phone handwash

कितना साफ़ है मोबाइल फ़ोन?

मोबाइल फ़ोन मल में पाए जाने वाले विषाणुओं से संक्रमित हो सकते हैं. ऐसा ठीक से हाथ नहीं धोने से हो सकता है.

इंग्लैंड में हुए एक सर्वे से पता चला कि छह में से एक मोबाइल फोन ई-कोलाई बैक्टीरिया से संक्रमित है. साथ ही 16 प्रतिशत लोगों के हाथों में ये बैक्टीरिया पाया गया. ये सर्वे इंग्लैड के 12 शहरों में कराया गया.

ई-कोलाई बैक्टीरिया इंसान की आंत में रहता है और मल में पाया जाता है.

शोधकर्ताओं ने ई-कोलाई का पाया जाना मल के कण पाए जाने का संकेत माना हैं. यानी शौच के बाद ठीक तरह से हाथ नहीं धोने से ये बैक्टीरिया हाथ या फिर मोबाइल फ़ोन पर आ जाता है.

लंदन स्कूल ऑफ़ हाईजिन के डॉक्टर वाल कर्टिस कहती हैं, "इतने सारे लोग आख़िर क्यों शौच के बाद हाथ नहीं धोते हैं? शायद वो धोते हैं, लेकिन उनका तरीक़ा ग़लत है."

वैसे शोधकर्ताओं के मुताबिक ज़्यादातर ई-कोलाई बैक्टीरिया के प्रकार गंभीर बीमारी नहीं फैलाते लेकिन डॉक्टर कर्टिस के मुताबिक़ उंगिलयों में या मोबाइल फ़ोन पर मल के होने की बात हो रही है.

हाथ कैसे धोएं

handwash

हाथ धोने में कुछ लोग जल्दबाज़ी कर जाते हैं.

हाथ धोने में दिक्कत ये आती है कि कई लोग इसे ठीक से नहीं धोते, या जितनी ज़रूरत है उससे कम.

बीबीसी के स्वास्थ्य संवाददाता फ़र्गस वाल्श लिखते है कि उन्हें हाथ धोने के विषय में इंग्लैंड के मशहूर विषाणु वैज्ञानिक जॉन ऑक्सफोर्ड की बात याद आती है. उन्होंने कहा था कि हाथ धोते वक्त लोकप्रिय गीत जैसे हैप्पी बर्थडे टू यू के दो अंतरे गाएं और उतनी ही देर तक हाथ की सफ़ाई करते रहें.

विकासशील देशों में साफ़-सफ़ाई की कमी की वजह से डायरिया मौत का बड़ा कारण है. हाथ धोने की आदत से विकसित देशों में लोग शायद पेट दर्द से बच जाएं, लेकिन विकासशील देशों में ये आदत जान बचाने वाली है.

15 अक्तूबर को विश्व हैंडवाशिंग दिवस के रूप में मनाया जाता है. ये कार्यक्रम हाथ की साफ़-सफ़ाई को बढ़ावा देने के लिए मनाया जाता है जिसे विषाणुओं के संक्रमण से बचने के लिए सबसे सस्ता और कारगर तरीक़ा माना जाता है. इंग्लैंड में ये सर्वे इस आदत को बढ़ावा देने के लिए कराया गया है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.