एक अणु से बनी ‘इलेक्ट्रिक कार’ की टेस्ट ड्राइव

अणु इमेज कॉपीरइट R.WIND
Image caption इससे पहले भी अणु से चलने वाली काफ़ी चीज़ों को सामने लाया गया है.

वैज्ञानिकों ने एक ऐसी कार का प्रदर्शन किया है, जिसे बेहद सावधानीपूर्वक तरीक़े से केवल एक अणु से डिज़ाइन किया गया है और उसे विश्व की सबसे छोटी इलेक्ट्रिक कार कहा जा सकता है.

जिस अणु से इस गाड़ी को बनाया गया है, उसकी चार शाखाएं हैं जो पहिए की तरह काम करती हैं और धातु से हल्का सा करंट दिए जाने पर घूमती हैं.

मात्र 10 बिजली के झटकों से इस गाड़ी को एक मीटर के छह अरबवें हिस्से की दूरी तक चलाया गया.

इस इलेक्ट्रिक गाड़ी की ‘बैट्रियां’ एक ऐसे सुरंगी माइक्रोस्कोप की मदद से मिलती है, जो स्कैन करने में सक्षम है.

काम

इस माइक्रोस्कोप का छोर जैसे ही अणु के पास पहुंचता है, वैसे ही इलेक्टोन यानि अतिसूक्ष्म परमाणु उस पर छलांग लगाते हैं.

इस प्रणाली की मोटर चार ‘आण्विक रोटर’ से जुड़ी होती है, जो गाड़ी के पहिए की तरह काम करती है.

इस गाड़ी का टेस्ट ड्राइव नैनोटेक्नोलॉजी के ज़रिए किया गया.

इससे पहले भी अणु से चलने वाली काफ़ी चीज़ों को सामने लाया गया है.

नीदरलैंड में ट्वेंट विश्वविद्यालय के केमिस्ट टिबोर कुडरनाक ने कहा, “अगर आप अपने आस-पास देखें तो हर जैविक प्रणाली में कई अणु मशीन हैं, जो प्रोटीन की मदद से कई ज़रूरी काम करती हैं. मांसपेशियों का सिकुड़ना भी प्रोटीन मोटर की मदद से ही होता है. ये गाड़ी एक आसान उदाहरण है इस बात का कि हम अणु की मदद से कुछ भी हासिल कर सकते हैं.”

हालांकि डॉक्टर कुडरनाक ये भी कहते हैं कि ऐसी कारों को देखने के लिए लोगों को लंबा इंतज़ार करना पड़ेगा.

उनका कहना था कि उनका पहला लक्ष्य इस तकनीक को संभव बनाना और उसका टेस्ट ड्राइव करने का था.

संबंधित समाचार