हादसे के बाद यात्रियों के साथ रूसी अंतरिक्ष यान की उड़ान

सोयुज़ इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption अगस्त में एक रूसी यान में हुए विस्फोट के बाद अंतरिक्ष यात्राएँ रोक दी गई थीं

अगस्त में मानवरहित रूसी अंतरिक्ष यान में हुए विस्फोट के बाद पहली बार रूस के एक अंतरिक्ष यान - सोयुज़ ने तीन अंतरिक्ष यात्रियों को लेकर उड़ान भरी है.

रूस का एक अंतरिक्ष यान कज़ाक़स्तान से रवाना होगा और इस पर दो रूसी और एक अमरीकी अंतरिक्ष यात्री हैं.

अगस्त के हादसे के बाद तीन महीने के लिए अंतरिक्ष में मानवों को ले जाने वाली सभी यात्राओं को रद्द कर दिया गया था.

लेकिन इस बार अंतरिक्ष यात्रियों ने उड़ान से पहले कहा कि वे अपनी और यान की सुरक्षा को लेकर वे आश्वस्त हैं.

'उपकरणों पर विश्वास है'

ये दो रूसी और एक अमरीकी अंतरिक्ष यात्री अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र में काम कर रहे वैज्ञानिकों की जगह लेंगे.

मॉस्को में बीबीसी के डेनियल सैंडफ़र्ड का कहना है कि वैसे देखा जाए तो अंतरिक्ष में जाने का यह काफ़ी सुरक्षित तरीका माना जाता है.

अगस्त में छोड़े जाने के कुछ ही देर बाद रूस के एक मानवरहित अंतरिक्ष यान में विस्फोट हो गया था जिसके बाद से अंतरिक्ष यात्रा को रोक दिया गया था.

नासा के वरिष्ठ अंतरिक्ष यात्री 50-वर्षीय डैन बरबैंक के लिए अंतरिक्ष यान सोयुज़ पर ये पहली यात्रा होगी. रूसी अंतरिक्ष यात्री 42-वर्षीय अनातोली इवैनिशिन और 39-वर्षीय एंतोन शकाप्लेरोव अपनी पहली अंतरिक्ष यात्रा कर रहे हैं.

एंतोन शकाप्लेरोव ने उड़ान भरने से पहले पत्रकारों को बताया, "हमारे दिमाग में कोई नकारात्मक विचार नहीं हैं. हमें अपने उपकरणों पर विश्वास है."

सोयुज़ पर दो दिन बिताने के बाद ये यात्री जब अंतरिक्ष केंद्र पर रुकेंगे तो वे कुछ देर तक नासा के केंद्र कमांडर माइक फ़ोसम, जापान के सोतोषी फ़ुरुकावा और रूस के सर्जई वॉलकोव के साथ बिताएँगे.

अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र को 16 देशों के लगभग 100 अरब डॉलर के निवेश से चलाया जा रहा है.

अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के 30 सालों के शटल कार्यक्रम के जुलाई में बंद होने के बाद अब रूसी यानों पर ही अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष केंद्र तक ले जाया जाएगा.

संबंधित समाचार