बर्फ़ में फंसी व्हेल

Image caption बेलुगा व्हेल आर्कटिक और सब-आर्कटिक महासागर में पाई जाती हैं.

क़रीब 100 बेलुगा व्हेल उत्तर-पूर्वी रूस के शुकोत्का इलाक़े में पानी पर बहते बर्फ़ के टुकड़ों में फंसी हुई हैं.

स्थानीय अधिकारियों ने सरकार से उन्हें छुड़ाने के लिए एक बर्फ़ तोड़नेवाले की मांग की है.

शुकोत्का इलाक़े में बेरिंग समुद्र में फंसी ये व्हेल ख़ुद साफ़ पानी तक नहीं तैर पा रहीं.

छोटे से वर्गक्षेत्र में फंसी इन व्हेलों के पास खाने को ज़्यादा नहीं है, साथ ही बर्फ़ की मात्रा बढ़ रही है.

अधिकारियों के मुताबिक़ व्हेलों की थकान से मृत्यु भी हो सकती है.

इन व्हेलों के बारे में स्थानीय शिकारियों ने अधिकारियों को जानकारी दी थी.

अब शुकोत्का के राज्यपाल रोमन कोपिन ने रूस के परिवहन और आपातकाल मंत्रियों से मदद की गुहार की है ताकि इन व्हेलों को छुड़ाया जा सके.

स्थानीय अधिकारियों के मुताबिक़ वो एक सर्वेक्षण कर ये निश्चित करने की कोशिश कर रहे हैं कि व्हेल आख़िर कहां फंसी हैं लेकिन मौसम साफ़ ना होने की वजह से इसमें दिक़्क़त आ रही है.

बेलुगा ल्हेल को सफ़ेद व्हेल के नाम से भी जाना जाता है. ये आर्कटिक और सब-आर्कटिक महासागर में पाई जाती हैं.

बेलुगा व्हेल इंटरनैश्नल यूनियन फॉर कनज़र्वेशन ऑफ़ नेचर की "संकट के नज़दीक" जानवरों की सूचि में दर्ज हैं.

रूसी प्रधानमंत्री व्लादीमिर पुतिन बेलुगा व्हेल के मुरीद हैं और इसके बचाव के लिए रूस के कार्यक्रम का नेतृत्व करते हैं.

संबंधित समाचार