पहली बार: मनुष्य की अंतरिक्ष से कूदने की तैयारी

फ़ेलिक्स इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption फ़ेलिक्स पृथ्वी के लगभग 23 मील ऊपर से छलांग लगाएँगे

विश्व के इतिहास में पहली बार इस साल कोई व्यक्ति पृथ्वी के वायुमंडल से ऊपर अंतरिक्ष से बिना किसी मशीन की मदद से कूदने की योजना बना रहा है.

ऑस्ट्रिया के नागरिक फ़ेलिक्स बॉमगार्टनर को एक गुब्बारे के ज़रिए पृथ्वी से 23 मील ऊपर यानी लगभग 120,000 फ़ीट ऊपर पहुँचाया जाएगा.

उन्होंने एक दबाव वाला सूट पहन रखा होगा और जब वे बिना किसी मशीन के छलांग लगाएँगे तो संभव है कि ध्वनि की गति से भी तेज़ गति से पृथ्वी की ओर आएँ.

नासा के सूट से पुख़्ता और लचीला सूट

इस सूट में विशेष एयर प्रेशर बनाकर रखा जाएगा और सांस लेने के लिए ऑक्सिजन की सप्लाई होगी. ये उसी तरह का सूट होगा जैसा अंतरिक्ष यात्री पहनते हैं लेकिन ये उससे ज़्यादा पुख़्ता होगा और फ़ुर्ती के लिए नासा सूट से अधिक लचीला होगा.

यदि बॉमगार्टनर का सूट ठीक से काम नहीं करता तो उतनी ऊँचाई पर उसका ख़ून उबल सकता है.

इस सूट को उसे अत्यंत ठंड से भी बचाना होगा क्योंकि उस ऊँचाई पर तापमान सामान्य से 70 डिग्री नीचे यानी माइनस 70 डिग्री सेंटीग्रेड हो जाता है.

लेकिन उनके साथ इस योजना पर काम कर रहे इंजीनियरों का कहना है कि सभी टेस्ट किए जा चुके हैं और जैसी परिस्थितियों का बॉमगार्टनर को सामना करना पड़ सकता है, उसका अभ्यास भी किया गया है और सभी उपकरण तैयार हैं.

बॉमगार्टनर का कहना है, "इसका मतलब यह है कि मैं ये करतब करके दिखा सकता हूँ. पूरा साज़ो-सामान तैयार है."

ब्रिटेन की रॉयल एयर फ़ोर्स के विमानन चिकित्सा विभाग के अध्यक्ष ग्रुप कैप्टन डेविड ग्रैडवेल इसे जुख़िम भरा, चुनौतीपूर्ण प्रयास बताते हैं.

उन्होंने बीबीसी को बताया, "वे (बॉमगार्टनर) बहुत तेज़ गति से गिर रहे होंगे इसलिए उन्हें ध्यान रखना होगा कि वे स्थिर रहें ताकि वे नियंत्रण न खो दें. उन्हें अपनी प्रेशर हेलमेट से ये देख पाना होगा कि आसपास क्या हो रहा है ताकि वे पैराशूट को ठीक से इस्तेमाल कर सकें."

इससे पहले इस तरह की कई कोशिशें हो चुकी हैं लेकिन वे सभी असफल रही हैं.

बॉमगार्टनर इससे पहले मलेशिया के पेट्रोनास टावर से छलांग लगा चुके हैं.

संबंधित समाचार