मोबाइल जो डुबकी लगाए, सांस की बदबू दूर भगाए

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

कंप्यूटर की तरह काम करने वाले स्मार्टफोन की दुनियाभर में धूम है और बार्सिलोना में हाल ही में हुई 'मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस' में तरह-तरह के स्मार्टफोन छाए रहे, लेकिन फोन की इस भीड़ में क्या कुछ ऐसा भी है जो वाकई लीक से हटकर है.

फोन के इस मेले में अजीबोगरीब और ताज़ातरीन फोन को देखने के लिए लोगों में जितना उत्साह था उतना ही दबाव था फोन बनाने वाली कंपनियों पर कुछ नया परोसने का.

इस मेले में हमें कई नायाब फोन दिखे मसलन मछलीघर में रखे ऐसे फोन जो घंटों पानी के भीतर रह सकते हैं.

पानी में गिर कर फोन अक्सर खराब हो जाते हैं और यही वजह है कि कंपनियां इन ‘वाटरप्रूफ फोन’ के ज़रिए कुछ नया करने का सोच रही हैं.

इनके भीतर लगी मशीनरी पर सिलिकॉन की ऐसी परत चढ़ी है कि फोन घंटो पानी में रहने पर भी खराब नहीं होगा.

15 साल चलेगी बैट्री

Image caption ग्राहकों की मांग के चलते फोन बनाने वाली कंपनियों पर नई से नई तकनीक इजाद करने का दबाव बढ़ रहा है.

नए ज़माने के फोन जितने खूबसूरत हैं उतने नाज़ुक भी. मेले में हमारी मुलाकात हुई कैथरीन से जिनका नया फोन खरीदने के कुछ घंटों बाद ही गिर कर टूट गया.

यही वजह है कि कैथरीन हमें ले गईं एक ऐसे स्टॉल पर जिस पर रखे फोन बनाए ही गए हैं ऊंचाई से गिरने के लिए.

इस मेले में कई अजीबोगरीब फोन भी मौजूद थे मसलन लंबाई में बड़ा और चटकीले रंगों वाला एक ऐसा फोन जिसकी खासियत है कि ये आपकी सांस की बदबू का ब्यौरा देगा और शर्मिंदा होने से बचाएगा.

स्मार्ट-फोन हर चीज़ में माहिर हैं और वाकई लाजवाब, लेकिन एक बड़ी समस्या है जल्द खत्म होने वाली उनकी बैटरी. मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस में हमें एक ऐसा फोन भी दिखा जो बैटरी की शिकायत को हमेशा के लिए खत्म कर देगा.

इस फोन में लगी है खासतौर पर बनाई गई डबल चार्ज एए बैटरी यानि इसे चालू करके भूल जाइए और ये 15 साल तक भी काम करता रहेगा.

आपात स्थितियों के लिए वाकई इससे बेहतर कुछ नहीं हो सकता.

कंप्यूटर से आगे फोन

स्मार्ट-फोन का बाज़ार बढ़ता जा रहा है, लेकिन क्या ये फोन कंप्यूटर की तरह काम करेंगे. कितना फर्क है कंप्यूटर और इन फोन में ये जानने के लिए हमने बात की चिप्स मैकार्थी से जिनकी तकनीक के सहारे ही ज़्यादातर स्मार्टफोन काम कर रहे हैं.

चिप्स कहते हैं, ''अगर आप कंप्यूटर के विकास को देखें तो आज हम कंप्यूटर का जो रुप देखते हैं उसे सामने आने में 25 साल लगे, लेकिन स्मार्टफोन्स के मामले में अच्छी खबर ये है कि बाज़ार में प्रतिस्पर्धा इतनी कड़ी है कि ग्राहकों की मांग हर दिन कुछ नया करने का दबाव बना रही है.''

कुलमिलाकर बार्सिलोना में लगे दुनिया के सबसे बड़े फोन मेले में कई नायाब और बेहतरीन फोन देखने को मिले. ये फोन आज भले ही थोड़े अजीब लगें, लेकिन शायद यही अब हमारा भविष्य हैं. सेलेन जोन्स बीबीसी न्यूज़

संबंधित समाचार