दूध में मौजूद चर्बी से हो सकती है आंत संबंधी बीमारियाँ

 शुक्रवार, 15 जून, 2012 को 05:10 IST तक के समाचार
आंत संबंधी बीमारी

आंत संबंधी बीमारी से पेट दर्द और दस्त लग सकते हैं.

अमरीका में शोधकर्ताओं का कहना है कि आंत में सूजन संबंधी बीमारियों में बढ़ोत्तरी भोजन शैली में बदलाव करने से हो सकती है जिसकी वजह से ख़राब बैक्टीरिया बढ़ सकता है.

इस विषय पर शोधकर्ताओं ने चुहों पर प्रयोग किया.

इस बारे में विज्ञान पत्रिका नेचर में छपे विस्तृत विवरण में कुछ विशेष प्रकार की चर्बी और आंत में बैक्टीरिया से सूजन जैसी बीमार को जो़ड़ कर देखा गया है.

शोधकर्ताओं का कहना है कि भोजन में अधिक चर्बी होने की वजह से पाचन प्रक्रिया में बदलाव होता है और इससे नुकसानदेह बैक्टीरिया को बढ़ावा मिलता है.

वैज्ञानिकों का कहना है कि आंत के बैक्टीरिया में कुछ बदलाव कर बीमारी का इलाज किया जा सकता है.

शोधकर्ताओं का कहना है कि ब्रिटेन में आंत संबंधी बीमारी हर 350 लोगों में से एक व्यक्ति को होती है और जब ये बीमारी बढ़ने लगती है तो आंत में जलन और सुजन हो सकती है जिससे पेट दर्द और दस्त हो जाते हैं.

मामले बढ़े

यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो के शोधकर्ताओं का कहना है कि इस बिमारी के मामले तेज़ी से बढ़ रहे हैं.

इन शोधकर्ताओं ने अनुवांशिक रुप से परिवर्धित चुहों पर ये शोध किया जिनमें आंत में सूजन संबंधी बीमारी होने की ज्यादा संभावना थी.

तीन में से एक चुहे को आंत्रशोथ हुआ जिसे कम चर्बी वाला या असंतृप्त भोजन दिया गया लेकिन यही संख्या बढ़कर तीन में से दो हो गई जब इन चुहों को अधिक चर्बी वाले दुध से बनी चीज़े दी गई.

ये संतृप्त चर्बी शरीर के पाचन के लिए कठिन होती है और इससे पचे हुए भोजन को आंत में लेने में दिक्कत होती है, इससे बैक्टीरिया यहां बढ़ता चला जाता है.

यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो के प्रोफेसर इयूगेने का कहना है, ''ये बैक्टिरीया हानिकारक हो सकते हैं, ये सल्फ़र का स्रोत होते है और ये बढ़ता है और जब ऐसा होता है ये आनुवांशिक रुप से प्रवृत व्यक्ति के प्रतिरक्षी तंत्र को सक्रिय कर देते है.''

उनका कहना है कि हालांकि इसका इलाज हो सकता है और उस व्यक्ति की जीवनशैली को बदले बिना इसका इलाज हो सकता है.

इस शोध पर टिप्पणी करते हुए कॉर्क इंस्टिट्यूट ऑफ टेकनॉलोजी के डॉक्टर रॉय स्लीएट का कहना है कि ये एक विश्वसनीय प्रमाण देता है कि किस तरह से पश्चिमी भोजन आंत संबंधी बिमारियों का बढ़ाता है लेकिन ये शोध ये भी बताता है कि इसका इलाज भी कैसे किया जा सकता है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.