शाम को आराम के लिए दो तिहाई लोग लेते हैं 'पैग'

Image caption दो तिहाई लोग थकान मिटाने के लिए शराब का सहारा लेते हैं

एक निजी संस्था का कहना है कि दुनिया भर में करीब दो तिहाई लोग शाम के वक्त खुद को आराम देने के लिए शराब पर भरोसा करते हैं.

30 से 35 वर्ष के क़रीब दो हज़ार लोगों पर कराए गए एक सर्वेक्षण से ये बात सामने आई कि करीब 44 प्रतिशत लोग शराब का सेवन करते हैं.

शराब पीने की सबसे ज्यादा वजह तनाव और काम की अधिकता बताई गई.

सर्वेक्षण कराने वाली संस्था ड्रिंकअवेयर ने चेतावनी दी है कि शराब का सेवन तनाव को बढ़ा सकता है.

घर पर शराब का सेवन करने वाले करीब एक तिहाई लोग और लगभग आधी महिलाओं का कहना था कि उन्होंने जरूरत से ज्यादा शराब का सेवन किया.

करीब 68 प्रतिशत लोगों का कहना था कि वो घर पर ही शराब का सेवन करते हैं, जबकि 71 प्रतिशत लोग सप्ताह की खरीदारी में शराब को भी शामिल करते हैं.

करीब एक तिहाई लोग भोजन के साथ शराब पीकर टीवी देखना पसंद करते हैं तो वहीं एक चौथाई लोग शाम को खाने के साथ पीना पसंद करते हैं.

ड्रिंकअवेयर संस्था के प्रचार विभाग के प्रमुख सियोभान मैक्कान के मुताबिक, “तनाव से मुक्ति के रास्ते में शराब आपका एक मिथ्या मित्र हो सकता है.”

उनका कहना है, “यहां तक कि कई बार ऐसा लगता भी है कि थोड़ी मात्रा में शराब के सेवन से दिन भर का तनाव दूर हो गया है, लेकिन लंबे समय तक इसका सेवन कई तरह से नुकसानदेह होता है.”

इस अभियान के निदेशक एमिली रॉबिन्सन के मुताबिक, “बहुत से लोग शराब का सेवन तनाव दूर करने के लिए करते हैं लेकिन इससे और दिक्कतें बढ़ जाती हैं.”

वे कहती हैं, “शराब अवसादक भी है, इसलिए परेशानी का अनुभव कई बार खराब स्थिति में पहुँच सकता है. और बाद में चलकर अनिद्रा का कारण बनता है.”

इस सर्वेक्षण का एक और महत्वपूर्ण निष्कर्ष ये है कि चूंकि लोग दिन भर की थकान उतारने के लिए शराब का सेवन करते हैं, इसलिए नियोक्ताओं को चाहिए कि वो अपने कर्मचारियों को काम के दौरान कुछ आराम दें, ताकि वे थकान का अनुभव न करें.

संबंधित समाचार