बुजुर्गों के लिए खतरा, 2040 में कैंसर होगा तिगुना

 मंगलवार, 21 अगस्त, 2012 को 15:21 IST तक के समाचार
कैंसर

बुजूर्गों में 65 साल के बाद कैंसर का खतरा तिगुना हो जाता है

एक ताज़े अध्ययन का कहना है कि कैंसर 65 साल की उम्र के बाद कई लोगों के लिए जीवन की सच्चाई बन जाएगा.

शोधकर्ताओं और कैंसर चैरिटी का कहना है कि 2040 में कैंसर से पीड़ित लोगों की संख्या मौजूदा संख्या के मुकाबले तीन गुनी हो जाएगी.

वर्ष 2010 में जिन लोगों की उम्र 65 थी उनमे से 13 लाख को कैंसर था.

माना जा रहा है कि तीस सालों में ये आकड़ा 41 लाख तक पहुंच जाएगा.

मैकमिलन कैंसर सपोर्ट नाम के संगठन का कहना है कि कैंसर का बढ़ता रुझान समाज के लिए एक बड़ा ख़तरा है.

बढ़ती उम्र के कारण कैंसर का खतरा बढ़ जाता है और बढ़ती औसत उम्र के कारण इस आकड़े में बढ़ोतरी हो सकती है.

कैंसर आम

लंदन के किंग्स कॉलेज ने 'दी ब्रिटिश जनरल ऑफ कैंसर' में छपे अपने अध्ययन में ये जानने की कोशिश की है कि भविष्य में कैंसर किस रफ्तार से आम हो जाएगा.

इस अध्ययन में ये पाया गया कि साल 2010 से 2040 के बीच 65 साल से ऊपर के कैंसर पीड़ित लोगों की संख्या में दस लाख का इजाफा होगा.

कैंसर

आने वाले दशकों में स्वास्थ्य सेवाओं की मांग भी बढ़ेगी

एक शोधकर्ता प्रोफ़ेसर हेनरिक मॉलर का कहना है, ''शोध से पता चला है कि आने वाले दशकों में बढ़ती उम्र के लोगों के समूह में ये बीमारी बढ़ेगी और इसके साथ साथ स्वास्थ्य सेवाओं की मांग भी बढ़ेगी.''

इस शोध में ये निष्कर्ष निकाला गया, ''ब्रिटेन में वर्ष 2040 में जिन लोगों की उम्र करीब 65 साल की होगी उसमें से एक चौथाई कैंसर से पीड़ित लोग जीवित होंगे.''

सेवाओं पर भार

"शोध से पता चला है कि आने वाले दशकों में बढ़ती उम्र के लोगों के समूह में इसमें बढ़ोतरी होगी और इसके साथ साथ बढ़ेगी स्वास्थ्य सेवाओं की मांग भी बढ़ेगी.''"

प्रोफ़ेसर हेनरिक मॉलर

नतीजा ये होगा कि कैंसर के मामलों में हो रही बढ़ोतरी से स्वास्थ्य सेवाओं और समुदाय के लिए सेवाएं देने वाले संसाधनों पर भार पड़ेगा.

हालांकि बेहतर इलाज या नए स्क्रिनिंग कार्यक्रम से इस आंकलन को कम किया जा सकता है.

मैकमिलन कैंसर सपोर्ट के मुख्य कार्यकारी कियारन देवाने ने बुजुर्ग मरीजों को सेवाएं देने का 'समाज के लिए टाइम बम बताया' है और नेशनल हेल्थ सिस्टम के लिए चेतावनी देते हुए काम करने की जरुरत बताई है.

उनका कहना है,''हमारा ये नैतिक दायित्व है कि हम कैंसर से लड़ने के लिए लोगों को सबसे बेहतरीन मौका दे, उनकी उम्र चाहे कुछ हो.''

कैंसर से पीड़ित लोगों में सुधार लाने के लिए उन्हें सही स्तर पर सही उपचार दिया जाना चाहिए.

कियारन का कहना था जिन बुजुर्ग लोगों के उपचार में दिक्कतें आती है उनसे निपटा जाना चाहिए और अगर हम समाधान नहीं निकालते हैं तो कई बुजुर्गों भविष्य में अनावश्यक ही मौत हो जाएगी.

स्वास्थ्य विभाग का कहना है अच्छी खबर ये है कि बेहतर उपचार का मतलब है ज्यादा लोगों का कैंसर से बचाया जा सकेगा.

एक प्रवक्ता का कहना था कि 1 अक्तूबर से स्वास्थ्य और सामाजिक देखभाल क्षेत्र में उम्र के आधार पर भेदभाव करना गैर कानूनी होगा.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.