ग्लास का आकार, तय करे पीने की रफ्तार

 शनिवार, 1 सितंबर, 2012 को 02:32 IST तक के समाचार
बीयर के ग्लास

जब भी आप पीने पिलाने बैठते हैं तो ग्लास के आकार पर शायद ही ध्यान जाता हो. लेकिन एक ताजा अध्ययन कहता है कि ग्लास का आकार आपके पीने की रफ्तार तय करता है.

'यूनिवर्सिटी ऑफ ब्रिस्टल' के शोधकर्ताओं का ये अध्ययन कहता है कि ग्लास की बाहरी सतह अगर सीधी न हो कर घुमावदार हो तो पीने वाले की रफ्तार बढ़ जाती है.

इस अध्ययन में 159 लोगों ने हिस्सा लिया और उन्हें शीतल पेय या बीयर पीते हुए फिल्माया गया. सभी ग्लासों में बराबर मात्रा में शीयत पेय या बीयर थी. लेकिन ग्लासों का आकार अलग-अलग था. कुछ ग्लास सीधे थे जबकि कुछ गोलाकार थे.

शीतल पेय पीने वालों की रफ्तार पर ग्लास के आकार से कोई फर्क नहीं देखा गया लेकिन बीयर पीने वालों में अंतर साफ था. जो लोग घुमावदार सतह वाले ग्लासों में बीयर पी रहे थे, उन्होंने सीधी सतह वाले ग्लासों में बीयर पीने वालों से पहले अपना ग्लास खाली कर दिया.

अंदाजा मुश्किल

"वो ये नहीं देख पा रहे थे कि वे कितनी जल्दी पी रहे हैं, ऐसे में वो खुद को धीमा नहीं कर सकते थे."

डॉ. अंगेला एटवुड, मुख्य शोधकर्ता

घुमावदार ग्लास वालों ने जहां सात मिनट में अपना ड्रिंक खत्म किया, वहीं सीधे ग्लासों में पीने वालों को 11 मिनट लग गए.

अध्ययन की रिपोर्ट कहती है, “अगर अल्कोहल वाले पेय घुमावदार ग्लासों के बजाय सीधे ग्लासों में पेश किए जाते हैं तो उन्हें पीने की रफ्तार लगभग 60 प्रतिशत धीमी हो जाती है.”

शोधकर्ताओं का मानना है कि घुमावदार ग्लासों में पीने से रफ्तार धीमी नहीं पड़ती क्योंकि ग्लास के आकार की वजह से पीने वाले के लिए ये अंदाजा लगाना मुश्किल हो जाता है कि ग्लास में अभी कितनी बची है.

अध्ययन में हिस्सा लेने वालों को कई तरह की तस्वीरें दिखाई गईं जिनमें बीयर के आधे भरे ग्लास थे और उनसे पूछा गया कि ग्लास आधे से कम भरे हैं या ज्यादा.

शोधकर्ताओं का कहना है कि जिन तस्वीरों में बीयर घुमावदार ग्लासों में थी, उनके बारे में ज्यादातर लोगों के जवाब गलत पाए गए.

'आदतों में बदलाव संभव'

बीयर के शौकीन

इस अध्ययन में 159 लोगों ने हिस्सा लिया.

शोधकर्ताओं की इस टीम का नेतृत्व करने वाली डॉ. अंगेला एटवुड का कहना है, “वो ये नहीं देख पा रहे थे कि वे कितनी जल्दी पी रहे हैं, ऐसे में वो खुद को धीमा नहीं कर सकते थे.”

ये अध्ययन प्रयोगशाला में किया गया और इसमें सिर्फ एक ड्रिंक दी गई. ऐसे में ये तय नहीं है कि प्रयोगशाला से बाहर के हालात में जब एक साथ कई तरह के ड्रिंक होते हैं, तो पीने की रफ्तार पर आकार का क्या असर हो सकता है.

लेकिन डॉ. एडवुड कहती हैं कि पब में ग्लासों के आकार में बदलाव करके लोगों के पीने की आदतों में बदलाव किए जा सकते हैं.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.