ऐपल ने उतारा आईफोन-5

 गुरुवार, 13 सितंबर, 2012 को 01:49 IST तक के समाचार
आईफोन5

एपल का कहना है कि आईफोन5 की कई खासियतें उसे पिछले मॉडलों से अलग करती हैं.

ऐपल ने अपना 4जी विशेषताओं वाला आईफोन-5 पेश कर दिया है. पहले के मुकाबले ज्यादा बड़ा ये फोन सैन फ्रांसिस्को में लॉन्च किया गया.

इस नए फोन की खासियत है पहले से ज्यादा बडी स्क्रीन जिसमें ज्यादा एप्लिकेशन दिखाई देंगे.

कंपनी का कहना है कि उसका नया फोन आईफोन-4एस के मुकाबले 18 प्रतिशत ज्यादा पतला और 20 प्रतिशत ज्यादा हल्का है.

इसकी स्क्रीन 4 इंच की है. हालांकि ये इस श्रेणी में सैसमंग, नोकिया, मोटोरोला और एचटीसी जैसी कंपनियों के फोन से छोटी ही है.

ऐपल के आईफोन-5 में स्क्रीन की लंबाई और चौड़ाई का अनुपात 19: 9 रखा गया है जो बड़े स्क्रीन वाले टीवी के अनुरूप है.

आईफोन-5 की खासियत

ऐपल के उपाध्यक्ष फिल शिलर ने आईफोन-5 को पेश किया. इस फोन में ऐपल की डिजाइन की हुई एक चिप लगी है. शिलर का कहना है कि ये चिप इस फोन को बाकी पिछले मॉडलों के मुताबिक दोगुना शक्तिशाली बनाती है.

आईफोन-5 में आईफोन-4 की तरह आठ मेगापिक्सल का ही कैमरा लगा है जबकि इस मामले में एलजी और सोनी कंपनी के हालिया फोन कहीं आगे हैं.

एपल

एपल को सैमसंग से तगड़ी टक्कर मिल रही है.

लेकिन शिलर का कहना है कि आईफोन-5 और उसके साथ मिलने वाले सॉफ्टवेयर के जरिए कम प्रकाश में पहले से ज्यादा अच्छी तस्वीरें खींजी जा सकेंगी.

आईफोन-5 बाजार में किस तरह का प्रदर्शन करता है, इस पर न सिर्फ बाजार के विश्लेषकों की नजर रहेगी, बल्कि ये ऐपल के भविष्य के लिए भी बेहद अहम है.

ऐपल की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक कंपनी की कमाई के बाद में आईफोन और उससे जुड़े सामान की ब्रिक्री का 52 फीसदी योगदान है.

लेकिन ऐपल को सैमसंग की ओर से कड़ी टक्कर मिल रही है. उसके उत्पाद दुनिया भर में तेजी से बिक रहे हैं.

आंकड़े बताते हैं कि अप्रैल से जून तक पश्चिमी यूरोप में स्मार्टफोन के बाजार में 43.6 प्रतिशत हिस्सा सैमसंग के खाते में गया जबकि ऐपल की हिस्सेदारी 19 प्रतिशत ही रही.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.