स्कूली बच्चे का बनाया ऐप करोड़ों में बिका

  • 26 मार्च 2013
याहू ने ऐप खरीदा, लड़का हुआ मालामाल
निक का कहना है कि उन्होंने सोचा भी नहीं था इतनी जल्दी इतना सब कुछ मिल जाएगा.

बीबीसी को पता चला है कि दिग्गज वेब कंपनी याहू ने 17 वर्षीय एक ब्रितानी युवा के बनाए ऐप को करोड़ों पाउंड में खरीदा है.

निक डी’अलोसियो की कंपनी समली का ये एप लोकप्रिय मीडिया प्रतिष्ठानों की न्यूज स्टोरीज का सार पेश करता है. डी’अलोसियो का कहना है कि इस ऐप का विचार उन्हें परीक्षा के लिए पढ़ाई को दोहराने से आया.

कोई भी कंपनी इस डील का ब्यौरा सार्वजनिक नहीं करेगी.

ये ऐप अब खुद बंद हो जाएगा लेकिन इसके फ़ीचर याहू के मोबाइल उत्पादों में इस्तेमाल किए जाएंगे जहां डी’अलोसियो को नौकरी भी दी गई है.

आने वाले कुछ हफ्तों में उनकी कंपनी समली के कुछ "आला कर्मचारी" भी याहू में नई भूमिकाओं में दिखाई देंगे.

इस ऐप की शुरुआत उस वक्त की गई थी जब डी’अलोसियो की उम्र सिर्फ 15 साल थी और जल्द ही इसने दस लाख पाउंड से ज्यादा के निवेश को आकर्षित किया था.

'ज्यादा नहीं मेरे खर्चे'

संभव है कि डी’अलोसियो अब अपने दम पर करोड़पति बनने वाले दुनिया के सबसे कम उम्र के शख्स हों.

'लंदन इवनिंग स्टैंडर्ड' अखबार से बातचीत में उन्होंने कहा, “मुझे जूते पसंद हैं. मैं नाइक के नए ट्रेनर जूते लूंगा और शायद एक नया कंप्यूटर भी खरीदूं. लेकिन अभी में सिर्फ बचत करना चाहता हूं. मेरा बहुत ज्यादा खर्चा नहीं है.”

समली के ब्लॉग पर डी’अलोसियो ने सोमवार को लिखा, “जब मैंने 15 साल की उम्र में समली की स्थापना की थी, तो मैंने कभी ये सोचा भी नहीं था कि अचानक ये सब मिल जाएगा.”

उन्होंने अपने साथियों का शुक्रिया अदा करते हुए कहा है, “मैं ली का-शिंग और हॉरिजंस वेचर का निजी रूप से धन्यवाद करना चाहता हूं जिन्होंने एक ऐसे किशोर का साथ दिया जो अपने सपने के पीछा दौड़ता है. हमारे निवेशक, सलाहकार और बेशक जबरदस्त टीम भी शुक्रिया की हकदार है जिसने समली की क्षमताओं में विश्वास किया.”

याहू के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एडम काहान ने बताया कि वो बहुत खुश हैं कि डी’अलोसियो और उनके साथी अब याहू के साथ हैं.

(क्या आपने बीबीसी हिन्दी का नया एंड्रॉएड मोबाइल ऐप देखा ? डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें)

संबंधित समाचार