ऐपल के नए दो आईफ़ोन में क्या है ख़ास

  • 11 सितंबर 2013
ऐपल, आईफ़ोन, फीचर्स, 5एस, 5सी

ऐपल के नए और सस्ते आईफ़ोन इस वक़्त तकनीक की दुनिया की सबसे बड़ी ख़बर हैं. आईफ़ोन 5एस जहां ऐपल की नई पीढ़ी का फ़ोन है तो बहुरंगी 5सी को कंपनी ने सबसे सस्ते आईफ़ोन की तरह बाज़ार में उतारा है.

यह लॉन्च ऐपल की अब तक की रणनीति से अलग रहा क्योंकि अभी तक कंपनी ने एकसाथ दो अलग-अलग तरह के हैंडसेट कभी लॉन्च नहीं किए थे.

नए आईफ़ोन 20 सितंबर से अमरीका, यूके, चीन, ऑस्ट्रेलिया और कनाडा में मिलने शुरू हो जाएंगे. ख़ास बात ये है कि पहली बार चीन को इस शुरुआती लॉन्च में रखा गया है. हालांकि भारत में ये कब तक पहुंचेंगे, कंपनी ने यह स्पष्ट नहीं किया है.

सवाल यह है कि आख़िर ऐपल के ये दोनों फ़ोन अपने पूर्ववर्तियों से किस मायने में अलग हैं?

अलग कैसे

5एस में फ़िंगरप्रिंट सेंसर है, जो आईफ़ोन धारक की पहचान बताता है, तो 5सी का सबसे बड़ा फ़ीचर है उसके पांच अलग-अलग रंग.

नया फ़िंगरप्रिंट सिस्टम के ज़रिए आप 5एस को अनलॉक करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं. इसे नाम दिया गया है- टच आईडी.

असल में इसके ज़रिए ऐपल ने मोबाइल फ़ोनों की सुरक्षा संबंधी परेशानी सुलझाने की कोशिश की गई है.

हालांकि फ़िंगरप्रिंट तकनीक पेश करने वाली ऐपल पहली कंपनी नहीं है. मोटोरॉला 2011 में ही अपने एट्रिक्स हैंडसेट में यह तकनीक लाया था पर हैंडसेट मालिकों को इसके इस्तेमाल में दिक्कतें पेश आईं.

ऐपल ने अपने नए फ़ोनों में फ़ोटोग्राफी की क्षमताएं भी बेहतर की हैं.

कंपनी के मुताबिक उसने 15 फ़ीसदी बड़ा सेंसर शामिल किया है जिसकी वजह से कम रौशनी में भी अच्छी फ़ोटो खींची जा सकती हैं. 5एस हैंडसेट में दो एलईडी फ़्लैश शामिल हैं जो अलग अलग तरह की लाइट मुहैया कराते हैं.

इन दोनों की मदद से तस्वीरों के रंग संतुलित किए जा सकते हैं.

नए फ़ोनों की कुछ और ख़ासियतें भी इन्हें पिछली पीढ़ी से अलग करती हैं.

ऑटोमेटिक इमेज स्टेबिलाइज़ेशन शामिल करने की वजह से अब आपकी तस्वीर हाथ हिलने के चलते ख़राब नहीं होगी. वीडियो को आप 120 फ़्रेम प्रति सेकेंड पर शूट कर पाएंगे.

इसका फ़ायदा यह है कि आप उससे स्लो मोशन का असर पैदा कर सकते हैं.

हालांकि कंपनी ने अपने नए फ़ोन में कैमरा की क्षमता 8 मेगापिक्सेल से ज़्यादा नहीं बढ़ाई है. हालांकि अभी तक बेहतर कैमरा फ़ीचर्स के ज़रिए स्मार्टफ़ोन निर्माता जैसे सोनी और नोकिया ख़ुद को दूसरों से अलग करने की कोशिश करते रहे हैं.

नए फ़ोनों में ऐपल के वर्ड प्रोसेसिंग सॉफ़्टवेयर जैसे स्प्रेडशीट, प्रेज़ेंटेशन और वीडियो एडिट एप्स भी शामिल की गई हैं जिनके लिए पहले कुछ अलग से ख़र्च करना पड़ता था.

हालांकि नियर फ़ील्ड कम्यूनिकेशन जैसी सुविधा को इन नए आईफ़ोनों में शामिल नहीं किया गया है, जो आमतौर पर ऐपल के प्रतिद्वंद्वी फ़ोनों में मौजूद हैं.

इस तकनीक का इस्तेमाल करके आप बड़े स्टोर्स में पैसा अदा कर सकते हैं और फ़ोन को स्पीकर्स और दूसरे गैजेट्स से जोड़ सकते हैं.

सस्ता 5सी

ऐपल के अपने ऑपरेटिंग सिस्टम आईओएस7 से लैस आईफ़ोन 5सी में 4 इंच का रेटिना डिस्प्ले, ए6 चिप और आठ मेगापिक्सेल का आईसाइट कैमरा मौजूद है.

पांच रंगों में लॉन्च किए गए 5सी में ज़्यादातर पुराने आईफ़ोन 5 की तरह ए6 प्रोसेसर है, मगर इसकी बैटरी क्षमता पहले से ज़्यादा बताई जा रही है.

फ़ोन की बॉडी हार्ड कोटेड पॉलीकार्बोनेट से बने स्टील फ्रेम में तैयार की गई है, जो हाथों में मज़बूती का अहसास कराता है.

ऐपल का दावा है कि 5सी में एप्स लॉन्च करना और ईमेल अटैचमेंट डाउनलोड करना बेहद आसान होगा.

फ़ोन में शामिल नया फ़ेसटाइम एचडी कैमरा फ़ेसटाइम कॉल करने और खुद का फ़ोटो खींचने में मदद करता है. पहली बार आप इसके ज़रिए सिर्फ़ आवाज़ आधारित फ़ेसटाइम कॉल भी कर पाएंगे.

ऐपल के मुताबिक इंटरनेट से जुड़ने पर आपको इस फ़ोन पर 100 एमबीपीएस तक की स्पीड मिलेगी जिससे ब्राउज़िंग, डाउनलोड और स्ट्रीमिंग आसान होगी.

इस फ़ोन में शामिल ऑपरेटिंग सिस्टम आईओएस7 में कुछ बेहतरीन फ़ीचर्स जैसे कंट्रोल सेंटर, नोटिफ़िकेशन सेंटर, मल्टीटास्किंग, एयरड्रॉप, बेहतर फ़ोटो, सफ़ारी, सीरी तो हैं ही.

इसमें आपको मुफ़्त इंटरनेट रेडियो सेवा आईट्यून्स रेडियो भी मिलेगी, जिसके ज़रिए आप आईट्यून्स पर अपना पसंसीदा संगीत सुन सकते हैं.

ऐपल 5एस

64 बिट के ए7 चिप, ट्रूटोन फ़्लैश और टच आईडी फ़िंगरप्रिंट सेंसर से लैस है आईफ़ोन 5एस.

ऐपल का दावा है कि यह पहला स्मार्टफ़ोन है जो डेस्कटॉप की तरह आपके हाथों में 64 बिट की परफ़ॉर्मेंस देने में सक्षम है.

5एस में ताक़तवर ए7 प्रोसेसर है और इसका एक चिप लगातार फ़ोन की गतिविधियां मॉनीटर करता है और एप्स अपडेट रखने के लिए डेटा हासिल करता है.

कंपनी का दावा है कि आईफ़ोन 5एस अब तक के सभी फ़ोनों के मुकाबले सबसे बेहतर गेमिंग डिवाइस होगी. बेहतर चिप की वजह से भारी-भरकम विज़ुअल इफ़ेक्ट्स वाले गेम खेलना इस पर आसान होगा जो अब तक सिर्फ़ मैक, पीसी या गेमिंग कंसोल के ज़रिए ही मुमकिन था.

इस फ़ोन में लगा एम7 मोशन कोप्रोसेसर एक्सेलेरोमीटर, जायरोस्कोप और कंपास के ज़रिए फ़ोन डेटा इकट्ठा करता है और उसकी रफ़्तार बढ़ाता है.

5एस का नया फ़ीचर है ट्रू टोन फ़्लैश जो किसी फ़ोन में पहली बार रखा गया है. यह एक हज़ार कॉम्बिनेशन में तस्वीरों के कलर ठीक करता है. इससे आपकी तस्वीरें ज़्यादा बेहतर लगेंगी.

5सी की तरह 5एस भी 3जी नेटवर्क पर 10 घंटे का टॉकटाइम मुहैया कराता है.

‘सस्ता नहीं’

5एस सिममुक्त ऐपल आईफ़ोन के 16 जीबी मॉडल की क़ीमत भारतीय मुद्रा में क़रीब 55148 रुपए और 64 जीबी मॉडल की क़ीमत 71220 रुपए रखी गई है.

जबकि 5सी मॉडल का 16 जीबी मॉडल 47111 रुपए में मिल सकता है. हालांकि इंग्लैंड में इसी क़ीमत में आपको 4एस मॉडल मिल जाएगा.

सीसीएस इंसाइट के तकनीकी सलाहकार बेन वुड के मुताबिक़, ‘5सी उतना सस्ता नहीं है, जितना अभी तक 4एस (क़ीमत 35057 रुपए) है.’

चीन है बाज़ार

ऐपल अपने दोनों नए फ़ोन के जरिए चीन के बाज़ार पर पकड़ बनाने की कोशिश में है. इस साल की शुरुआत में ही कंपनी के सीईओ टिम कुक ने चीन को अपना सबसे बड़ा बाज़ार बताया था.

मगर बिक्री के ताज़ा आंकड़े बताते हैं कि चीन और ताईवान में आईफ़ोन बिक्री में 14 फ़ीसदी तक गिरावट आई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार