ऐपल का चीन में एक बड़ा क़रार

  • 23 दिसंबर 2013

अमरीका की सबसे बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनी ऐपल ने चीन में मोबाइल सेवा उपलब्ध कराने वाली सबसे बड़ी कंपनी चाइना मोबाइल के साथ सौदा किया है.

इस चीनी कंपनी के 76 करोड़ से ज़्यादा उपभोक्ता हैं और इस महीने की शुरुआत में तीन नेटवर्कों के बीच 4जी लाइसेंस वाली हासिल करने वाली वो पहली कंपनी है.

दुनिया के सबसे बड़े स्मार्टफोन बाज़ार चीन में ऐपल तेज़ी से अपनी बिक्री बढ़ाना चाहती है लेकिन उसे अपने प्रतिद्वंद्वियों से कड़ी टक्कर मिल रही है.

उम्मीद है कि ताजा डील से चीन के बाजार में ऐपल को अपनी हिस्सेदारी बढ़ाने में मदद मिलेगी.

'सबसे ज्यादा फ़ायदा'

ऐपल के मुख्य कार्यकारी टिम कुक ने कहा, ''ऐपल के लिए चीन एक बहुत ही महत्वपूर्ण बाजार है. चाइना मोबाइल के साथ हुई इस साझेदारी से हमें विश्व के सबसे बड़े नेटवर्क के उपभोक्ताओं तक आईफोन पहुँचाने का मौका मिलेगा.''

इस साल की शुरुआत में कुक ने उम्मीद जताई थी कि ऐपल को उत्तरी अमरीका की जगह चीन से सबसे ज़्यादा आमदनी होने लगेगी. आईफोन, ऐपल को लाभ पहुंचाने वाले सबसे महत्वपू्र्ण उत्पादों में से एक है.

चीन में मोबाइल सेवा मुहैया कराने वाली दो अन्य कंपनियों- चाइना यूनिकॉम और चाइना टेलिकॉम के उपभोक्ताओं के लिए आईफ़ोन पहले ही उपलब्ध था.

लगभग सवा अरब उपभोक्ताओं के साथ चीन विश्व के सबसे बड़े स्मार्टफोन उपभोक्ताओं में से एक है.

लेकिन हाल ही में ये बात सामने आई है कि चीनी उपभोक्ताओं के घरेलू चीनी कंपनियों और सैमसंग के सस्ते हैंडसेट की तरफ रुख करने से, आईफोन के पिछले मॉडलों की बिक्री में गिरावट देखी गई है.

आईडीसी कंसल्टेंसी की हालिया रिपोर्ट के मुताबिक चीन में सबसे ज्यादा स्मार्टफोन बेचेने वाली तीन मुख्य कंपनियां सैमसंग, लेनोवो और कूलपैड हैं.

अपने प्रतिद्वंद्वियों को टक्कर देने के प्रयास में ही ऐपल ने इस साल आईफोन का सस्ता संस्करण 5सी बाज़ार में उतारा था.

विश्लेषकों के मुताबिक ऐपल को उम्मीद थी कि इस मॉडल को बाजार में लाने और विश्व के सबसे बड़े मोबाइल नेटवर्क के साथ क़रार के बाद उसे चीन में प्रतिद्वंद्वियों का सामना करने में मदद मिलेगी.

मगर अभी तक ऐपल ने ये घोषणा नहीं की है कि चाइना मोबाइल नेटवर्क के ज़रिए लोग जो आईफ़ोन 5एस और 5सी मोबाइल लेंगे उसके लिए उन्हें कितनी क़ीमत अदा करनी होगी.

'सबसे बड़ी डील'

विश्लेषकों का कहना है कि इस सौदे में बहुत संभावनाएं हैं. कैंटर फिज़राल्ड रिसर्च का अनुमान है कि चाइना मोबाइल के लगभग ढाई करोड़ उपभोक्ताओं को कंपनी आईफोन बेच सकती है.

इस साल सितंबर तक नौ महीनों के दौरान ऐपल पूरे विश्व में लगभग सवा 10 करोड़ आईफोन बेच चुकी है.

इससे पहले तक चाइना मोबाइल के उपभोक्ता ऐपल का आईफ़ोन इस्तेमाल नहीं कर सके थे क्योंकि उस कंपनी की 3जी टेक्नॉलॉजी आईफ़ोन के लिए उपयुक्त नहीं थी.

लेकिन उसका 4जी नेटवर्क आईफोन 5एस और 5सी के साथ काम करेगा.

फ्रॉस्ट एंड सुलिवन कंसल्टेंसी फर्म के प्रबंध निदेशक मनोज मेनन ने बीबीसी को बताया, ''ये पिछले कुछ सालों में ऐपल की सबसे बड़ी साझेदारियों में से एक है. इस साझेदारी से ऐपल को कुल वैश्विक फोन उपभोक्ताओं के लगभग दस प्रतिशत से भी ज्यादा उपभोक्ताओं तक पहुँचने में मदद मिलेगी.''

उन्होंने बताया कि, ''इस मसौदे को पूरी तरह से लागू करने के लिए ऐपल को इससे भी अधिक किफायती मॉडल बाजार में लाने की जरूरत हो सकती है.''

आईफोन 5एस और 5सी चाइना मोबाइल के उपभोक्ताओं के लिए 17 जनवरी से बिक्री के लिए उपलब्ध होंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार