अलग दुनिया बुन देगा गूगल का ये फोन?

गूगल का 3-डी स्मार्टफ़ोन टैंगो इमेज कॉपीरइट Google

गूगल ने एक ऐसा स्मार्टफ़ोन तैयार किया है जो यूज़र के आस-पास का 3डी मैप तैयार कर सकता है. स्मार्टफ़ोन में विशेष तौर से इसी काम के लिए बने हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया गया है.

गूगल ने 'कस्टमाइज़्ड हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर' वाले इस नए स्मार्टफ़ोन का प्रोटोटाइप (परीक्षण स्तर का नमूना मॉडल) जारी किया है.

इस स्मार्टफ़ोन का सेंसर प्रति सेकेंड 250,000 तस्वीरें लेकर यूज़र के आस-पास का 3-डी मैप तैयार कर सकता है और यह सब कुछ रियल टाइम में यानी तत्काल होगा.

पढ़ें- अब गूगल कराएगा ताजमहल का ऑनलाइन दीदार

गूगल ने कहा है कि इस स्मार्टफ़ोन में इनडोर मैपिंग की सुविधा भी हो सकती है जिससे दृष्टिबाधित व्यक्ति अनजान जगहों पर बिना किसी मदद के जा सकते हैं.

इस फ़ोन के 200 प्रोटोटाइप सॉफ़्टवेयर डेवलपरों के लिए उपलब्ध कराए गए हैं ताकि वो इस फ़ोन के लिए ऐप बना सकें.

गूगल ने बताया है कि उसकी एडवांस्ड टेक्नॉलॉजी एंड प्रोजेक्ट (एटीएपी) इकाई ने यह फ़ोन विकसित किया है.

प्रोजेक्ट टैंगो

गूगल ने इसे प्रोजेक्ट टैंगो नाम दिया था. गूगल ने यह भी बताया कि उसने इस परियोजना में कई अन्य संस्थाओं की मदद भी ली गई है.

पढ़ें- गूगल लेंस: अब आंसू देंगे डायबिटीज़ का पता

गूगल ने एक बयान में कहा, "हम 3-डी दुनिया में रहते हैं, जबकि हमारे मोबाइल डिवाइस को लगता है कि दुनिया स्क्रीन की चारदिवारी में ख़त्म हो जाती है."

कंपनी ने इस बयान में कहा, "टैंगो परियोजना का उद्देश्य मोबाइल डिवाइस को स्थान और गति के मामले में मनुष्यों जैसी समझ देना है."

कंपनी ने कहा, "हम इस फ़ोन के शुरुआती प्रोटोटाइप को उन डेवलपरों को देने के लिए तैयार हैं जो इस फ़ोन की संभावनाओं की कल्पना कर सकें और उस कल्पना को हक़ीक़त में बदल सकें."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार