जो जागता है वो खोता है...

नींद का महत्व इमेज कॉपीरइट Science Photo Library

प्रमुख वैज्ञानिकों का मानना है कि आधुनिक समाज में नींद के महत्व की अनदेखी हो रही है. इसके कारण शरीर के डीएनए पर होने वाला असर कई तरह की बीमारियों की वजह बन रहा है.

बेहतर स्वास्थ्य और अच्छी नींद के रिश्ते की पुष्टि करते हुए वैज्ञानिक लोगों को अपना स्वास्थ्य बेहतर करने के लिए अच्छी नींद की सलाह दे रहे हैं.

पिछले महीने लैंसेट मेडिकल जर्नल में डॉक्टरों को अपने नुस्खे में नींद की सलाह को भी शामिल करने का सुझाव दिया गया.

वैज्ञानिकों ने बीबीसी को बताया कि कई लोग अपने बॉडी क्लॉक के विपरीत जीवन जी रहे हैं, जहाँ वे या तो बहुत थोड़ी नींद ले रहे हैं, शिफ़्ट में काम कर रहे हैं या शाम के समय कंप्यूटर और स्मार्टफ़ोन का ज़्यादा इस्तेमाल करते हैं.

नींद का महत्व

वैज्ञानिकों का कहना है कि ऐसी आदत का असर इंसान के डीएनए पर पड़ सकता है और कैंसर जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है.

कम नींद के कारण हृदय रोग, टाइप-2 डायबिटीज, संक्रमण और मोटापे जैसे रोग हो सकते हैं.

वहीं नींद से जुड़े शोध बताते हैं कि स्वस्थ जीवन शैली के साथ-साथ अच्छी नींद आपके दिल पर मंडराने वाले ख़तरों को कम करती है.

इसलिए वैज्ञानिक सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिहाज से लोगों को पर्याप्त नींद लेने के लिए प्रोत्साहित करने और हर घर में इसकी सीख देने की बात कहते हैं.

ऐसे ही एक शोध में अच्छी नींद से मोटापा कम होने और छोटे बच्चों की याददाश्त बेहतर होने की बात कही गई है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार