गूगल ने तैयार किया मालवाहक ड्रोन

गूगल ड्रोन इमेज कॉपीरइट Reuters

गूगल ने स्वचालित विमानों का परीक्षण किया है जिन्हें भविष्य में सामान पहुँचाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है.

यह प्रोजेक्ट गूगल की तकनीकी शोध शाखा 'गूगल एक्स' में विकसित किया जा रहा है. गूगल की स्वचालित कार को भी इसी शाखा में विकसित किया गया है.

गूगल की ये परियोजना पिछले दो सालों से जारी थी लेकिन अभी तक इसे गुप्त ही रखा गया था.

गूगल का कहना है कि उसका दीर्घकालिक उद्देश्य ऐसे ड्रोन विकसित करना है जिन्हें आपदा प्रभावित इलाक़ों में राहत सामग्री पहुँचाने के लिए इस्तेमाल किया जा सके.

गूगल एक्स से जुड़े एस्ट्रो टेलर ने कहा, "यदि ऐसे विमान बहुत कम संख्या में ही लगातार शटल सेवा दे पाते हैं तो वो आपात स्थिति में बड़ी आबादी तक सामान पहुँचा में मददगार हो सकते हैं."

विमान का तकनीकी पक्ष

विकसित किए गए प्रोटोटाइप विमानों का ऑस्ट्रेलिया में सफल परीक्षण किया गया है.

इन ड्रोन विमानों के पंखों का विस्तार 4.9 फीट है और ये बिजली से चलने वाले चार प्रोपेलरों से उड़ान भरते हैं.

साढ़े आठ किलो वजन के इन विमानों से डेढ़ किलो वजन तक का सामान पहुँचाया जा सकता है.

दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलाइन रिटेल कंपनी अमेज़न ने पिछले साल दिसंबर में अपने अमेज़न फ्लाई प्रोजेक्ट की घोषणा की थी जिसके तहत तीस मिनट के अंदर ड्रोन से ऑर्डर पहुँचाया जाएगा.

कंपनी ने इस योजना को 2015 में लागू करने की उम्मीद ज़ाहिर की है.

हालांकि ये साफ़ नहीं है कि इस तरह के कामों के लिए ड्रोन के इस्तेमाल को लेकर किस तरह के नियम लागू होंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार