ग्रीनहाउस गैसें 30 साल के सबसे ऊँचे स्तर पर

इमेज कॉपीरइट SPL

ताज़ा आंकड़े बताते हैं कि वातारण में कार्बन डाई ऑक्साइड के स्तर में हुई वृद्धि के कारण पिछले साल ग्रीनहाउस गैसें रिकॉर्ड स्तर पर रहीं.

वातावरण में कार्बन डाई ऑक्साइड की सघनता में 2012 से 2013 के बीच पिछले तीस साल में सबसे ज़्यादा वृद्धि हुई है.

विश्व मौसम विज्ञान संगठन (डब्ल्यूएमओ) के मुताबिक़ ताज़ा आंकड़े बताते हैं कि जलवायु परिवर्तन पर संधि बेहद ज़रूरी है.

वैसे ब्रिटेन के ऊर्जा मंत्री एड डेवी का कहना है कि ऐसा कोई भी समझौता उत्सर्जन कटौती के लक्ष्यों को क़ानूनी रूप से बाध्य नहीं बना पाएगा, जैसा कि पहले सोचा गया था.

बढ़ोत्तरी

डब्ल्यूएमओ के सालाना ग्रीनहाउस गैस बुलेटिन में कहा गया है कि वातावरण में वैश्विक कार्बन डाई ऑक्साइड की औसत मात्रा 2013 में बढ़कर 396 पार्ट पर मिलियन (पीपीएम) हो गई है.

इससे एक साल पहले के मुक़ाबले में इसमें 3 पीपीएम की वृद्धि हुई है.

अभी वातारण में जो कार्बन डाई ऑक्साइड का स्तर है वो 1750 की तुलना में 142 प्रतिशत ज़्यादा है.

हालांकि कार्बन डाई ऑक्साइड के स्तर में हो रही लगातार वृद्धि के हिसाब से विश्व के तापमान में वृद्धि नहीं हुई है और इसीलिए बहुत से लोग दावा कर रहे हैं कि ग्लोबल वॉर्मिंग रुक गई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार