कुछ ख़ास है ये पूर्ण चंद्रग्रहण

चंद्रग्रहण इमेज कॉपीरइट

अमरीका और एशिया के अधिकांश इलाक़ों में आज यानी बुधवार को आकाश में अद्भुत नज़ारा दिखेगा. पूर्ण चंद्रग्रहण पर चंद्रमा रक्तिम आभा लिए सूरज की तरह दिखाई देगा.

खगोल विज्ञानियों के मुताबिक यह दिलचस्प घटना होगी जब हमारा प्राकृतिक उपग्रह पृथ्वी के साए से पूरी तरह ढक जाएगा.

इस चंद्रग्रहण में सूर्य की रोशनी पड़ने से चंद्रमा लाल या संतरी रंग का हो सकता है, यही वजह है कि खगोल विज्ञानियों ने इसे 'ब्लड मून' नाम दिया है.

इस साल पूर्ण चंद्रग्रहण की यह दूसरी घटना है. इससे पहले पूर्ण चंद्रग्रहण 15 अप्रैल को देखा गया था.

भारत में कहीं-कहीं

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption भारत के पूर्वोत्तर राज्यों के हिस्सों में ही चंद्रग्रहण दिखेगा

भारत में पूर्ण चंद्रग्रहण का कुछ देर के लिए पूर्वोत्तर राज्यों के कुछ हिस्सों में नज़र आने की उम्मीद है, जहां देश के दूसरे इलाकों के मुक़ाबले चंद्रोदय जल्दी होता है.

भारतीय समयानुसार चंद्रग्रहण दोपहर 1 बजकर 43 मिनट पर शुरू हुआ है, जिसका मतलब है कि भारत के अधिकांश हिस्सों में पूर्ण चंद्रग्रहण नहीं दिख सकेगा.

इस दुर्लभ खगोलीय घटना को देखने का सबसे अच्छा मौका उत्तरी अमेरिका के लोगों को मिलेगा. इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया, पश्चिम दक्षिण अमरीका और पूर्वी एशिया के कुछ हिस्सों में भी इस घटना को देखा जा सकता है.

अगला पूर्ण चंद्रग्रहण 4 अप्रैल 2015 को होने की संभावना है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार