दूध पीना हो सकता है जानलेवा!

दूध इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में प्रकाशित एक शोध के मुताबिक़ ज़्यादा दूध पीने से हड्डियों के टूटने का ख़तरा कम नहीं होता है और इससे जल्द मौत की संभावना भी बढ़ सकती है.

स्वीडन में किए गए एक शोध में यह पता चला है कि जो महिलाएं एक दिन में तीन ग्लास से ज़्यादा दूध पीती थीं उनकी हड्डियों के टूटने की संभावना अधिक थी.

हालांकि शोधकर्ताओं ने यह चेतावनी भी दी है कि उनके शोध से महज़ एक रुझान का अंदाज़ा मिलता है और इसे सबूत नहीं माना जाना चाहिए कि ज़्यादा दूध पीने से हड्डियों के टूटने का ख़तरा बढ़ता है.

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

उन्होंने कहा कि इसमें शराब और वज़न बढ़ने की भी भूमिका है.

कई सालों से दूध को कैल्शियम का अच्छा स्रोत माना जाता रहा है लेकिन हड्डियों के मज़बूत होने और टूटने के ख़तरे से जुड़े शोध के कई विरोधाभासी नतीजे सामने आए हैं.

स्वीडन में वैज्ञानिकों की एक टीम ने 1987-1990 के दौरान 61,400 महिलाओं और 1997 के दौरान 45, 300 पुरुषों की आहार संबंधी आदतों का परीक्षण किया और उसके बाद कुछ सालों तक उनके स्वास्थ्य की निगरानी की.

मौत का ख़तरा

इमेज कॉपीरइट PA
Image caption शोध के मुताबिक़ जो महिलाएं एक दिन में तीन ग्लास से ज़्यादा दूध पीती हैं उनकी हड्डियों के टूटने की संभावना अधिक रही.

शोध में शामिल होने वाले लोगों से एक प्रश्नावलि पूरा करने के लिए कहा गया जिसमें यह पूछा गया था कि उन्होंने एक साल की अवधि के दौरान कितनी मात्रा में दूध, योगहर्ट और चीज़ ली.

इसके बाद शोधकर्ताओं ने यह पता लगाया कि उनमें से कितने लोगों की हड्डियां टूटीं और बाद में वर्षों में कितने लोगों की मौत हो गई.

इस शोध से यह अंदाज़ा मिला कि इस तरह से ज़्यादा दूध पीने वालों में मौत का ख़तरा भी अधिक था.

हालांकि उपसाला यूनिवर्सिटी के प्रमुख शोधकर्ता प्रोफ़ेसर कार्ल मिशिलसन का कहना है कि ऐसे नतीज़े दूध में चीनी की मात्रा की वजह से भी दिख सकते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार