5जीः कैसी होगी 800 जीबीपीएस की स्पीड?

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

मोबाइल नेटवर्क की पांचवी पीढ़ी यानी 5जी नेटवर्क को विकसित करने के लिए कोशिशें शुरू हो गई हैं.

5जी नेटवर्क, 4जी और 3जी के कदमों के निशान का पीछा करेगी लेकिन इस बार वैज्ञानिक ज्यादा उत्साहित हैं.

उनका कहना है कि 5जी सेवाएं इस बार बहुत अलग होगी.

यानि कि अगर आप सोच रहे हैं, "अब मेरे ऐप नहीं रुकेंगे, वीडियो बफ़र नहीं करेगी और मोबाइल स्क्रीन पर न ख़त्म होने वाला डाउनलोड साइन नहीं दिखेगा."

तो आप सही हैं लेकिन यह कहानी का केवल एक हिस्सा है.

पूरी कहानी विस्तार से

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी ऑफ़ सरे में 5जी इनोवेशन सेंटर में रिसर्च टीम के मुख्य प्रोफेसर रहीम तफ़ाज़ोली कहते हैं, "5जी सब कुछ नाटकीय तरीके से उलट पुलट कर रख देगा."

इसका मतलब ये हुआ कि स्मार्ट शहर एक दूसरे से जु़ड़ सकेंगे, दूर बैठकर सर्जरी की जा सकेगी और बिना ड्राइवर वाली कारें हक़ीकत में आकार ले सकेंगी.

तो सवाल उठता है कि इस सुपरफ़ास्ट 5जी नेटवर्क को कैसे समझा जाए? 5जी नेटवर्क को 'रेडियो स्पेक्ट्रम का मिलन' करार दिया जा सकता है.

इसे जल्दी में ऐसे समझा जा सकता हैः डेटा, रेडियो तरंगों के जरिए सफ़र करेगा और रेडियो तरंगें अलग अलग बैंड्स या फ्रीक्वेंसीज़ में बंट जाएंगी.

सौ गुणा तेज़

इमेज कॉपीरइट ALAMY

इसलिए 5जी का रास्ता खोलने के लिए रेडियो नेटवर्क का ढांचा नए सिरे से तैयार करना होगा इसके साथ ही यह भी सुनिश्चित करना होगा 4जी और 3जी के पुराने नेटवर्क चलते रहें.

5जी बहुत तेज़ होगा. कई गुणा तेज़ होगा. प्रोफेसर तफ़ाज़ोली को यकीन है कि 5जी नेटवर्क में डाटा 800 जीबीपीएस की स्पीड से सफ़र तय करेगा.

5जी की फिलहाल जिस स्पीड पर टेस्टिंग हो रही है, उससे यह सौ गुणा तेज़ है.

संचार सेवाएं

इमेज कॉपीरइट PA

सैमसंग ने जब 2013 में 5जी के टेस्टिंग की बात कही थी तो उनकी स्पीड एक जीबीपीएस थी और मीडिया इस बात को लेकर उत्साहित थी कि हाई-डैफ़िनिशन की एक फ़िल्म एक मिनट से भी कम समय में डाउनलोड हो जाएगी.

लेकिन 800 जीबीपीएस की रफ़्तार से 33 एचडी फिल्म एक सेकेंड में डाउनलोड हो जाएगी.

5जी नेटवर्क के विकास के लिए काम कर रही कंपिनयों में से एक एरिकसन रिसर्च के प्रमुख सारा मज़ूर कहते हैं, "इस नेटवर्क को संचार सेवाएं की बढ़ी हुई मांग का सामना करना होगा."

परीक्षण

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

साल 2020 तक माना जा रहा है कि 50 अरब से 100 अरब डिवाइस इंटरनेट से जुड़े होंगे.

इसलिए अलग-अलग फ्रिक्वेंसी बैंड पर काम कर रहे इंटरनेट नेटवर्क को इस मांग को पूरा करना होगा.

दक्षिण कोरिया में सैमसंग 2018 तक शीतकालीन ओलम्पिक खेलों के लिए अस्थायी तौर पर 5जी नेटवर्क के परीक्षण की योजना बना रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार