क्या एस्पिरन बचाती है त्वचा कैंसर से?

इमेज कॉपीरइट SPL

क्या एस्पिरिन और आईब्रूफेन जैसी दर्द निवारक गोलियां लगातार लेने पर त्वचा कैंसर से सुरक्षा मिल सकती है?

अगर नए शोध की मानें तो हां.

ऑस्ट्रेलिया में हुए एक शोध के अनुसार कुछ खास किस्म की दर्द निवारक गोलियां लगातार लेने वालों को त्वचा कैंसर होने का खतरा कम हो सकता है. इसमें केवल ग़ैर स्टीरॉयड दवाएँ शामिल हैं.

इससे पहले इन गोलियों का संबंध अलग तरह के कैंसरों से भी जोड़ा गया था कि इन्हें खाने से कैंसर की बीमारी के आसार कम हो जाते हैं.

इमेज कॉपीरइट ISNA

हालांकि एस्पिरिन आदि दवाइयों के कारण कैंसर के खतरे कम होने की बात होती रही है लेकिन अब इसके सबूत भी धीरे धीरे सामने आ रहे हैं.

अब शोधकर्ताओं ने नौ शोधों का विश्लेषण किया है और इन दवाइयों के कैंसर पर असर के बारे में अध्ययन किया गया है, ख़ासकर खासतौर कार्सिनोमा कोशिकाओं में.

ये विश्लेषण जर्नल ऑफ इन्वेस्टिगेटिव डर्माटोलॉजी में छपा है जिसके अनुसार इन दवाईयों क लगातर सेवन से कैंसर होने का खतरा 18 प्रतिशत कम हो जाता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)