सांस की जांच से पता चलेगा पेट का कैंसर

पेट की तस्वीर इमेज कॉपीरइट SPL

कैंसर की बीमारी का शुरु में ही पता चलना ज़रूरी होता है और देर से पता चलने पर यह घातक हो जाता है.

लेकिन वैज्ञानिकों ने एक सांस की जांच का एक साधारण तरीक़ा खोज निकाला है जिससे पता चल जाएगा कि पेट के मरीज को कैंसर होने की कितनी संभावना है.

यह जांच सांस में छोटे-छोटे रासायनिक पदार्थों का पता लगाता है जिससे यह पता चलता है कि किस व्यक्ति में कैंसर के पूर्व लक्षण मौजूद हैं.

अभी यह जांच अपने शुरुआती चरण में है.

लेकिन, विशेषज्ञों का कहना है कि अगर यह जांच बड़े पैमाने पर सफल रही तो मरीजों का कैंसर के शुरुआती दौर में ही इलाज़ हो सकता है.

इमेज कॉपीरइट WASHINGTON UNIVERSITY

लेकिन इसके प्रमाणिकता के लिए अभी और भी काम करना है.

यह शोध 'गट' नाम के जर्नल में छपा है.

मूल शोध पढ़ने कि लिए यहाँ क्लिक करें

अधिकांश पश्चिमी देशों में पेट के कैंसर के बारे में देर से पता लगता है, तब तक मरीज के बचने की संभावना कम हो जाती है.

इसका पता इसलिए भी देर से चलता है क्योंकि लोग अपच और दर्द को कोई अन्य बीमारी मान लेने की ग़लती हो जाती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार