टचस्क्रीन के लिए कौन सा की-बोर्ड बेहतर?

mobile_phone_sms_keyboard_screen

फ़ोन या टैबलेट एक, उसके लिए की-बोर्ड अनेक. इतने सारे विकल्पों के बीच आप कैसे चुनें कि आपके फ़ोन के साथ जो कीबोर्ड आया है वो ठीक है, या फिर आपको ऐप डाउनलोड करना चाहिए.

गूगल की-बोर्ड नेक्सस फ़ोन में प्री-इन्सटॉल्ड होते हैं. इसमें प्रिडिक्टिव टाइपिंग है यानी आधा शब्द लिखते ही बाकी शब्द स्क्रीन पर आ जाता है, और साथ में वॉइस रिकग्निशन भी शामिल है. लेकिन इसका स्वाइपिंग फ़ीचर बहुत बढ़िया नहीं है इसीलिए ये बहुत लोकप्रिय नहीं है.

अगर आप दो-ढाई सौ रुपए खर्च करने को तैयार हैं तो स्विफ़्टकी को एक महीने के फ्री-ट्रायल के साथ डाउनलोड कर सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

इसका ऑटो-करेक्शन काफ़ी अच्छा है और टाइपिंग आसान है. अगर टाइप करने के लिए आप स्वाइप नहीं, टैप करते हैं तो ये की-बोर्ड आपको बहुत पसंद आएगा.

अगर आप स्वाइप करके टाइप करते हैं तो कई लोगों का कहना है कि swaype से बढ़िया फ़ीचर दूसरे ऐप में नहीं मिलेंगे.

मिनियम का बीटा वर्ज़न बाज़ार में है, इसका मतलब अभी कंपनी ने अपना फाइनल प्रॉडक्ट बाजार में नहीं उतारा है और इसमें अभी और सुधार होगा.

फ़िलहाल इसका इस्तेमाल सिर्फ अंग्रेज़ी के लिए किया जा सकता है. टैप करके इनपुट के लिए मैसेजईज़ एक और मुफ़्त विकल्प है.

अगर आप अपने फ़ोन या टैब के की-बोर्ड से ख़ुश नहीं हैं तभी आपको बदलाव करना चाहिए क्योंकि की-बोर्ड आदत की चीज़ है, एक बार अभ्यस्त होने के बाद दूसरी तरह का की-बोर्ड मुश्किलें पैदा कर सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार